आप यहाँ है :

किरण रिजिजू ने जेलों पर वर्तिका नन्दा की बनाई अनूठी वेबसाइट का लोकार्पण किया

– गृह राज्य मंत्री श्री किरण रिजिजू ने इस साइट को रिलीज करते हुए इसे जेलों में बंद कैदियों के नाम किया

– तिनका तिनका की इस बड़ी परियोजना की संस्थापक जेल सुधार कार्यकर्ता डॉ वर्तिका नन्दा हैं

– तिनका तिनका तिहाड़, तिनका तिनका डासना और तिनका तिनका आगरा के बाद यह साइट अब पूरे देश के बंदियों के सकारात्मक काम और बदलाव की पहचान बनेगी

गृह राज्य मंत्री श्री किरण रिजिजू ने जेलों के नाम एक अनूठी साइट का लोकार्पण किया है। www.tinkatinka.org का मकसद देश भर की जेलों को आपस में जोड़कर जेलों में सकारात्मक काम के लिए एक मंच को तैयार करना है। यह जेलों पर अब तक की पहली ऐसी साइट है जिसके जरिए जेलों में शिक्षा, स्किल, साहित्य, लेखन और यहां तक कि मीडिया प्रशिक्षण को लेकर हो रहे हर प्रयास को बाहरी दुनिया तक पहुंचाया जाएगा ताकि जेलें भी राष्ट्र निर्माण से खुद को जोड़ सकें और बंदियों को सृजन से जोड़कर उन्हें सुधार की तरफ ले जाया जा सके।

वर्तिका नन्दा की शुरू की इस साइट में कई खास फीचर होंगे। साइट का एक हिस्सा जेल की सेल्फी जैसे सेग्मेंट के जरिए अलग-अलग जेलों में स्किल, जेल सुधार की खबरों और जेल सुधार पर हुए शोध को जगह देगा। जेलों मे हो रहे रेडियो कार्यक्रमों की खबरों को भी यहां प्रमुखता से जगह दी जाएगी। एक हिस्सा जेलों के ऐतिहासिक पक्ष से भी जुड़ा रहेगा। दूसरे हिस्से में जेलों में चलती रही वर्तिका नन्दा की खुद की मुहिम को पहुंचाया जाएगा जिसके तहत बंदी अपनी जिंदगियों में बदलाव लाते रहे हैं। इस साइट में जेलों से जुड़ी अंतर्राष्ट्रीय खबरों का भी एक पन्ना होगा ताकि दुनिया भर की जेलों की हर संभव सकारात्मक कोशिश को यहां एक सूत्र में बांधा जा सके।

आने वाले दिनों में यह साइट जेल की रिपोर्टिंग और जेलों पर हो रहे शोध को लेकर एक नया अध्याय खोलेगी। साथ ही अतीत में जेलों में बंद रहे बंदियों के विशेष संस्मरण भी जोड़े जाएंगे जिनमें समाज के लिए किसी सीख का संदेश होगा। इसके अलावा इसमें जेलों में रचे जा रहे साहित्य और संगीत का भरपूर समावेश किया जाएगा।

वर्तिका नन्दा ने अभी हाल ही में बंदियों के लिए दो खास सम्मान शुरू किए हैं – तिनका तिनका इंडिया अवार्ड और तिनका तिनका बंदिनी अवार्ड। तिनका तिनका इंडिया अवार्ड हर साल देश की तमाम जेलों में किसी विशेष योगदान के लिए बंदियों को दिया जाएगा जबकि तिनका तिनका बंदिनी अवार्ड महिला बंदियों के नाम है। इसे इस साल अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर महिला और बाल बिकास मंत्री मेनका गांधी ने रिलीज किया था। 2015 में ही वर्तिका नन्दा के लिखे गाने तिनका तिनका तिहाड़ को लोकसभा अध्यक्ष श्रीमती सुमित्रा महाजन ने रिलीज किया था। तिहाड़ और डासना जेल पर लिखे उनके परिचय गान काफी चर्चित रहे हैं। इससे पहले तिनका तिनका तिहाड़ नाम की किताब लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड्स में दर्ज हो चुकी है और वे 2014 में भारत के राष्ट्रपति श्री प्रणव मुखर्जी से स्त्री-शक्ति पुरस्कार से भी सम्मानित हो चुकी हैं।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top