Thursday, February 29, 2024
spot_img
Homeसोशल मीडिया से....तो मानिये आप हिंदुस्तान में हैं...

….तो मानिये आप हिंदुस्तान में हैं…

1. अगर किसी अजा अजजा वर्ग के किसी व्यक्ति ने आप पर झूठा आरोप लगाया तो भी आप बिना जांच के जेल में।

2. अगर आपने किसी को कर्ज दिया और आपका पैसा दबाकर उसने पुलिस में झूठी शिकायत की आप जेल में।

3. अगर आप किसी के चेक बाउंस का केस दायर कर तो पहले आप 5% कोर्ट फीस भरिये, वकील की फीस दीजिये और दस साल फैसले का इंतजार कीजिये। सामने वाला पैसा खाकर मजे में।

4. अगर आप काबिल है पर सवर्ण है तो आप से इस बात का बदला लिया जाएगा कि सैकड़ो साल पहले आपके पूर्वजों ने किसी वर्ण का शायद दमन किया था । इसलिए नाकाबिल लोगो को आपके आगे किया जॉयेगा चाहे आप आत्महत्या कर ले।

5. अगर आप गुंडागिर्दी, मारपीट या अन्य आपराधिक गतिविधियों में आगे है, तो आप इस देश को चलाने के लिए सबसे योग्य व्यक्ति है ,और आप मंत्री बनकर देश की सबसे कठिन परीक्षा पासकर के आये व्यक्ति को निर्देश देते है।

6. अगर आप ठग है, तो आप बैंक से चाहे जितने लोन के पात्र है पर अगर आपको ईमानदारी से काम करने के लिए छोटा सा लोन चाहिए तो आपको दो चार जोड़ी चप्पलें चाहिए घिसने के लिए।

7. अगर आप देश को गाली देते है तो रातों रात इस देश के चर्चित व्यक्ति बन जाते है। आपको मीडिया कवरेज देता है और आप पर देशद्रोह का कोई आरोप नही लगता और आप हर राजनैतिक दल के चहेते बन जाते है । पर अगर आपके साथ रेप हो जाये तो आपके साथ पुलिस, मीडिया या सरकार कोई नही।

8. अगर आप सामान्य नागरिक है या देश की रक्षा करने वाले सैनिक है तो आपका कोई मानव अधिकार नही होता है चाहे आपकी जान चली जाए पर आतंकवादियों और हत्यारो का मानव अधिकार सर्वोपरि होता है।

9. अगर आप देशसेवा में फायर करे तो आप पर आपराधिक कार्यवाही होती है पर अगर आप देशद्रोह के लिए तोड़फोड़, मारकाट या आतंक मचाते है तो आपको माफ कर दिया जॉयेगा।

10. अगर आप मानवता के नाते किसी दुर्घटनाग्रस्त को अस्पताल पहुंचाते हैं तो सबसे पहले आप पर ही शक किया जॉयेगा।

अगर उक्त बातें मौजूद है तो यकीन मानिए आप सिर्फ हिंदुस्तान में है।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार