आप यहाँ है :

ईमानदार और दबंग रेल्वे पुलिस आयुक्त के तबादले का विरोध

मै पिछले दस वर्षो से अधिक समय से सामाजिक कार्य में जुड़ा हुआ हु | विशेष कर रेलवे के यात्रियों की सुरक्षा और समस्याओ को लेकर सम्बंधित विभाग में सूचित करते आया हूँ। | लेकिन पिछले दस वर्षो में मेरे जानकारी में जो भी अधिकारी आS वो अपने कार्यो को करने में लगे रहे यात्रियों की सुरक्षा प्रदान करने पर ध्यान दिया | लेकिन इन अधिकारियो की तुलना में डॉ रविंद्र सिंघल  ने जब से रेलवे पुलिस आयुक्त का कार्यभार संभाला है तब से लेकर अभी तक बहुत ही सराहनीय कार्य किया है | 

सबसे पहले सिंघल सर आते ही यात्रियों की सुरक्षा पर विशेष ध्यान देते हुए सभी स्टेशनों और आस पास के अपराधियों को समाप्त करने पर विशेष ध्यान दिया | यात्रियों और पुलिस के बिच की दुरी समाप्त करने के लिए रेलवे को सोशल मिडिया से जोड़ने के लिए फेसबुक चालु किया | इस के साथ ही पुलिस आयुक्त सिंगल सर ने सभी यात्रियों से आवाहन किया था की अगर आप की शिकायत कोई पुलिस नही लेता हो तो आप लिखित तौर पर फेसबुक या मेल के माध्यम से भेजे और सिंघल सर इस पर तुरंत कार्यवाई करते थे | इतना ही नही पुलिस विभाग के कर्मचारियों में समानता लाने के लिए कई तरह के सांस्कृतिक कार्यकर्मो के माध्यम से जोड़ने का अनोखा कार्य श्री सिंघल  ने किया है | स्टेशनों पर रहने वाले लावारिस या बेसहारा बच्चो के लिए ठाणे मनपा के माध्यम से आश्रम शुरु किया | इस तरह के सैकड़ो कार्य श्री सिंघल ने किए हैं इसके बावजूद उनका तबादला होना किसी साजिश का हिस्सा लगता है। 

 

 नागमणि पाण्डेय 
 09004322982

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top