ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

मोदीजी के गाँव में एक लड़की ने दिखाई सच्ची सह्रदयता

गुजरात के वडनगर में पहला दिव्यांग जीवन साथी मेला आयोजित किया गया। यह मेला महाशक्ति विकलांग कल्याण संघ ने अन्य संस्थाओं के सहयोग से आयोजित किया। मेले की सबसे बड़ी खासियत ये थी कि इसमें दिव्यांग युवक युवतियों को प्राथमिकता दी गई थी। सम्मेलन में केवल गुजरात ही नहीं बल्कि महाराष्ट्र से भी लोग आए थे। यहां 13 लड़कियां और 145 लड़के अपना जीवनसाथी चुन्ने आए थे।

इस सम्मेलन की सबसे खास बात ये थी कि गुजरात के वडनगर से आई एक सामान्य लड़की ने शादी के लिए एक दिव्यांग लड़के को चुना। 23 साल की पिंकी बेन चौहान का कहना है कि शारीरिक रूप से अच्छे लड़के दिखने में भले ही अच्छे हों, लेकिन ये जरूरी नहीं कि वह मन के भी अच्छे हों। उसने अपने जीवन साथी के रूप में हरेश कुमार को चुना। उसने कहा कि हरेश दिल के साफ हैं। मेरा परिवार भी मेरे निर्णय के साथ है। पिंकी और हरेश कुमार दोनों बनासकांठा के दांता के रहने वाले हैं।

आपको बता दें कि सामूहिक सम्मेलन में एक दूसरे को पसंद करने वाले जोड़ो के फेरे सामूहिक विवाह में होंगे। 1 अप्रैल को हुए इस सम्मेलन में तीन लड़के-लड़कियों ने जीवन साथी बनने के लिए एक दूसरे को चुना। इन्हीं में से एक थीं पिंकी बेन जो एक सामान्य लड़की हैं और पूरी तरह स्वास्थ्य हैं। उन्होंने दिव्यांगजन हरेश कुमार को चुना जो कि अस्थि समस्या से पीड़ित हैं। पिंकी के फैसले को वहां मौजूद लोगों ने काफी सराहा। पिंकी एक सामान्य घरेलू लड़की हैं जबकि हरेश की मोबइल की दुकान है।



सम्बंधित लेख
 

Back to Top