आप यहाँ है :

कला-संस्कृति
 

  • स्वर आलाप का मधुर संगीत महोत्सव

    स्वर आलाप का मधुर संगीत महोत्सव

    मुंबई। संगीत, कमेडी, बहुत से पुराने और भावनात्मक फिल्मी गानों के द्वारा अनेकों की पुरानी यादों को ताजा किया...ऐसी थी स्वर आलाप द्वारा आयोजित कंसर्ट में “बहुमुखी प्रतिभा वाले –जावेद अली”की प्रस्तुति। स्वर आलाप एक ऐसा संगठन है जो पिछले 14 सालों से भारतीय संगीत उद्योग के महान संगीतकारों को पहचान दिलाने के लिए प्रतिबद्ध है।

  • अविस्मरणीय क्षणों की सौगात दे गया कजरी महोत्सव

    अविस्मरणीय क्षणों की सौगात दे गया कजरी महोत्सव

    मुंबई। रविवार को जाते जाते कजरी महोत्सव ने कई अविस्मरणीय क्षणों की सौगात दी, जो मुंबईकरों के मानस पर अमिट छाप छोड़ गए।बनारसी लाल गमछा कांधे पर डाले महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की महोत्सव में एक घण्टे से अधिक समय की मौजूदगी

  • नाटक समूह की अभिव्यक्ति है  – स्वयं प्रकाश

    नाटक समूह की अभिव्यक्ति है – स्वयं प्रकाश

    दिल्ली। 'कहानी लिखना एक व्यक्ति की निजी गतिविधि हो सकती है लेकिन नाटक और रंगमंच के साथ ऐसा नहीं है। नाटक रंगमंच पर आकर अपना वास्तविक आकार ग्रहण करता है जिसमें निर्देशक और नाटक से जुड़े तमाम लोग अर्थ भरते हैं।'

  • कजरी महोत्सव में पहुँची  राजश्री बिरला

    कजरी महोत्सव में पहुँची राजश्री बिरला

    मुंबई। सुप्रसिद्ध उद्योग घराने बिरला समूह की अगुआ पद्मश्री राजश्री बिरला ने कजरी महोत्सव में पहुंचकर एक ओर सादगी व विनम्रता का परिचय दिया तो दूसरी ओर महोत्सव में बड़ी संख्या में जुटी महिलाओं को प्रेरणा भी दी।

  • मुंबई की झमाझम बारिश के बीच कजरी की धुनों पर १७ दिनों तक थिरकेंगे मुंबईवासी

    मिर्जापुर की कजरी गायिका मधु पांडेय और मुंबई के सदाबहार गायक सुरेश शुक्ला सावन की झमाझम बारिश में मुंबई के लोकगीत रसिको को 30 जुलाई से लोकसंस्कृति की फुहार से तृप्त करेंगे.

  • ‘स्वर आलाप’ की प्रस्तुति ‘‘द वर्सेटाइल’’ – एक संगीतमय प्रेरणा

    ‘स्वर आलाप’ की प्रस्तुति ‘‘द वर्सेटाइल’’ – एक संगीतमय प्रेरणा

    स्वर आलाप' एक गैर-लाभकारी संगठन है जो कि पिछले 14 साल से भारतीय संगीत उद्योग से जुड़े संगीतकारों के हितों के लिए कार्य कर रहा है। हर साल, 'स्वर आलाप' एक संगीत समारोह का आयोजन करता है, जिसमें संगीत उद्योग की गत वर्षों की महान संगीत प्रतिभाओं को कौशल प्रदर्शन का मंच प्रदान किया जाता है।

  • मुंबई में बहेगी लोक रंग की धारा, 30 जुलाई को कजरी महोत्सव

    एक ओर इंद्र देवता ने महाराष्ट्र समेत देश के लगभग हर हिस्से पर कृपा की है।सावन से पहले ही सावनी वातावरण ने लोगों का मन मोह लिया है।वहीँ दूसरी ओर सावन की रिमझिम फुहारों के बीच मुम्बई में रहनेवाले उत्तरप्रदेश और बिहार के लोगों पर कजरी की रसधार बरसाने का पूरा इंतजाम हो गया है।

  • कैलिफोर्निया में गाँधारी इन सर्च ऑफ लाईट की दमदार प्रस्तुति

    कैलिफोर्निया में गाँधारी इन सर्च ऑफ लाईट की दमदार प्रस्तुति

    2 जुलाई को नॉइज़ विद इन थिएटर लॉस ऐँजेलिस कैलिफोर्निया अमेरिका में आस्ट्रेलया के जाने माने अभिनय स्कूल ऑफ परफॉर्मिंग आर्ट्स की प्रस्तुति गांधारी इन सर्च ऑफ लाईट का मंचन हुआ l यह एक ऐसी यादगार प्रस्तुति थी जिसे लोग बरसों तक नहीं भूल पाएँगे।

  • नए दौर में संस्कृति और परंपराओं को बचाने की सार्थक पहल

    नए दौर में संस्कृति और परंपराओं को बचाने की सार्थक पहल

    बदलते दौर में संस्कृति और परंपराओं के साथ साथ अपने देश के गौरवशाली इतिहास को बचाने की चुनौती हर सरकार के सामने रही है। केंद्र सरकार का संस्कृति मंत्रालय इस दिशा में लगातार कोशिशें करता रहा है।

  • स्मृतियां ही बनाती हैं मनुष्यः संजय द्विवेदी

    स्मृतियां ही बनाती हैं मनुष्यः संजय द्विवेदी

    भोपाल। ‘‘स्मृतियाँ हमारे जीवन का अनिवार्य अंग है। स्मृतियाँ ही हमें मनुष्य बनाती हैं। दुष्यन्त कुमार स्मारक पाण्डुलिपि संग्रहालय इन स्मृतियों को संजोकर रखने का अनमोल कार्य का रहा है।

Back to Top