आप यहाँ है :

बेटे की लिखी किताबों से पिता को हुई करोड़ों की कमाई

ब्रिटेन के कारोबारी बाप-बेटी इन दिनों चर्चा में हैं. इसकी वजह उनके द्वारा शुरू किया गया किताबों का बिजनेस. सालभर में उनकी किताब ‘बिहाइंड मैजिक डोअर’ की बिक्री में 40 फीसदी बढ़ोतरी हुई है. 46 साल के रिचर्ड वार्नियर ने दो साल पहले नौकरी को अलविदा कह दिया था. वो आउटसोर्सिंग कंपनी में सेल्स डायरेक्टर थे. जब उन्होंने देखा कि बेटी निकोल की रुचि बच्चों के लिए कहानियां और परीकथाएं लिखने में है तो इस आइडिया को बिजनेस में बदलने का सोचा.

न्यूज एजेंसी एफपी के मुताबिक रिचर्ड बताते हैं ‘उस वक्त निकोल 15 साल की थी. मेरे पास मौका था कि मैं उस जॉब को छोड़ दूं और कंपनी से कंपेंनसेशन पैकेज ले लूं. हालांकि इसमें रिस्क तो थी. पर काफी सोच-विचार के बाद मैंने, पत्नी और बेटी ने फैसला लिया कि हमें कुछ ऐसा करना चाहिए जो अलग हटकर हो. उस साल निकोल के स्कूल में छुटि्टयां लगते ही हमने लेखन का काम शुरू कर दिया. और इस दौरान काफी सारा कंटेंट जमा कर लिया. वैसे बच्चों की किताबों के लिए तो सिर्फ हजार शब्दों और करीब 30-32 फोटो की जरूरत होती है. पर हम कोई कसर बाकी नहीं रखना चाहते थे. हमने 900 पेजे का टारगेट रखा था क्योंकि हम हर चीज कवर करना चाहते थे जो बच्चों को रोचक लगे.’

रिचर्ड के मुताबिक ‘इस बुक के लिए हमने क्राउडफंडिंग वेबसाइट किकस्टार्टर कैंपेन भी लांच कर दिया. हालांकि हमें इसकी जरूरत नहीं थी. पैसे तो पर्याप्त थे. पर इस बहाने हमें खासा प्रचार मिल गया. जिसकी हमें ज्यादा जरूरत थी. हमने पहला ऑर्डर तो समय पर पूरा कर दिया. पर उसे साइट द्वारा बेचने का आइडिया मार्च-2016 तक ही चला. तब हमने इसे सही तरीके से बेचने के बारे में सोचा.

फिलहाल ऑनलाइन रिटेलर नॉट ऑन हाई स्ट्रीट के जरिए इसकी बिक्री हो रही है. 34 देशों में इसकी डिलीवरी हो रही है और इसके लिए कोई शिपिंग चार्ज भी नहीं देना होता. ब्रिटेन में इसकी डिलीवरी 5-7 दिन में हो रही है. वहां इसकी कीमत करीब 1600 रुपए है.’

Print Friendly, PDF & Email


सम्बंधित लेख
 

ईमेल सबस्क्रिप्शन

PHOTOS

VIDEOS

Back to Top