आप यहाँ है :

ओम माथुर होंगे राजस्थान के मुख्य मंत्री, वसुंधरा केंद्र में जाएंगी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बहुत जल्द अपने मंत्रिमंडल में फेरबदल कर सकते हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार संसद के मॉनसून सत्र के उत्तरार्ध के 12 अप्रैल को खत्म होने के तुरंत बाद पीएम मोदी ये बदलाव कर सकते हैं। मोदी कैबिनेट में बदलाव की उम्मीद तो सभी को है लेकिन इस बाबत जो नाम मीडिया में सामने आ रहे हैं वो चौंकाने वाले हैं। कुछ मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की जगह ले सकती हैं। सुषमा की तबीयत पिछले कुछ समय से नासाज रही है।

विदेश मंत्री के तौर पर सुषणा को काफी यात्राएं करनी पड़ती हैं इसलिए उनकी जगह किसी अन्य को दिए जाने की चर्चा है। सुषमा स्वराज ने विदेश मंत्री के रूप में सोशल मीडिया पर आने वाली शिकायतों के त्वरित निपटारे कराकर काफी तारीफ बटोरी है। ऐसे में उनकी जगह लेने पर जनाकांक्षाओं का भारी दबाव होगा। रिपोर्ट के अनुसार भाजपा महासचिव ओम माथुर को वसुंधरा की जगह राजस्थान का सीएम बनाया जा सकता है।

मनोहर पर्रीकर के रक्षा मंत्री पद से इस्तीफा देकर गोवा के मुख्यमंत्री बनने के बाद मंत्रालय की जिम्मेदारी वित्त मंत्री अरुण जेटली को दी गयी है। लेकिन माना जा रहा है कि इस मंत्रालय की अहमियत और जेटली पर अतिरिक्त बोझ को देखते हुए जल्द ही नए रक्षा मंत्री की घोषणा होगी। मीडिया रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि पीएम मोदी रक्षा मंत्री के तौर पर किसी ने चेहरे को मौका दे सकते हैं। ये चेहरा जो भी हो उसकी छवि पर्रीकर की तरह “ईमानदार” राजनेता की होगी। भारतीय रक्षा मंत्रालय पिछले कुछ सालों में कई घोटालों को लेकर चर्चा में रहा है इसलिए पीएम मोदी भावी मंत्री के “चाल, चरित्र और चेहरे” को लेकर विशेष सतर्क रहेंगे।

इस बात की चर्चा है कि यूपी का सीएम बनने से चूक गए मनोज सिन्हा का भी आगामी फेरबदल में प्रमोशन हो सकता है। सिन्हा अभी दूरसंचार राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हैं। संभावना जतायी जा रही है कि पीएम मोदी के करीबी सिन्हा को कैबिनेट मिनिस्टर बनाया जा सकता है। पीएम मोदी के कैबिनेट फेरबदल में केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्रा के लिए बुरी खबर भी आ सकती है। माना जा रहा है कि 75 साल से अधिक उम्र वाले नेताओं को सक्रिय राजनीति से दूर रहने की पीएम मोदी की नीति की गाज उन पर गिर सकती है और उन्हें किसी राज्य का राज्यपाल बनाकर मंत्रिमंडल से विदा किया जा सकता है।

उत्तराखंड में भाजपा को मिली भारी जीत के बाद इस पहाड़ी राज्य से किसी नेता को केंद्रीय मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है। वहीं मध्य प्रदेश, छ्त्तीसगढ़ और राजस्थान में होने वाले आगामी विधान सभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए भी कुछ चेहरे मोदी कैबिनेट में शामिल किए जा सकते हैं।

साभार- इंडियन एक्सप्रेस से



सम्बंधित लेख
 

ईमेल सबस्क्रिप्शन

PHOTOS

VIDEOS

Back to Top