ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

उद्यमी वही है जो विपरीत समय में भी चुनौतियों को स्वीकार करे – प्रो. के.जी. सुरेश

भोपाल। शिक्षकों के अकादमिक उन्नयन एवं अद्यतनीकरण के उद्देश्य से माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय द्वारा आंत्रप्रेन्योर डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सहयोग से नेशनल फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम का समापन शनिवार को हो गया। विश्वविद्यालय के मीडिया प्रबंधन विभाग द्वारा उद्यमिता पर आयोजित दो सप्ताह के इस फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम में देश के कई उच्च शिक्षा संस्थानों के शिक्षक सम्मिलित हुए, जिसमें उद्यमिता एवं बिजनेस प्रोफेशनल्स एवं अकादमिक विशेषज्ञों ने प्रशिक्षण प्रदान किया।

समापन सत्र में मुख्य अतिथि के रूप में प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. के.जी. सुरेश ने कहा कि उद्यमी वही है जो विपरीत समय में चुनौतियों को स्वीकार करते हुए दृड़ता से खड़ा रहकर असफल नहीं हो। प्रो. सुरेश ने कहा कि समय दुनिया में कहीं नहीं मिलता है और न ही बिकता है। आप अपने प्रतिदिन 24 घंटे मिलते हैं, जिनका भरपूर और मूल्यवान उपयोग करना चाहिए। कोविड-19 के विपरीत समय में समय का सदुपयोग करके ही आज भारत न केवल वेंटिलेटर बना रहा है बल्कि वैक्सीन का एक्सपोर्ट दुनिया भर में कर रहा है, यह सफल कहानी हमारी उद्यम शक्ति को प्रेरित करती है।

फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम के कोआर्डीनेटर डॉ. मोहम्मद हनीफ मेवाती ने दो सप्ताह के प्रशिक्षण कार्यक्रम का प्रतिवेदन रखते हुए मुख्य बिंदुओं को रखा। इससे पहले प्रतिभागी शिक्षकों ने अपने अनुभव साझा किए और अपना फीडबैक दिया। कार्यक्रम के अंत में प्रतिभागी शिक्षकों को कुलपति जी ने प्रमाण पत्र प्रदान किए।

मीडिया प्रबंधन विभाग के अध्यक्ष एवं विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो. अविनाश वाजपेयी ने आभार व्यक्त करते हुए कहा कि यह कार्यक्रम प्रतिभागी शिक्षकों के लिए उपयोगी साबित होगा जिसका लाभ विदायर्थियों को मिलेगा। विश्वविद्यालय भविष्य में उद्यमिता जागरूकता अभियान में भी सहयोगी बनेगा। कार्यक्रम का संचालन डॉ. दिलप्रीत कौर साहनी ने किया।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top