आप यहाँ है :

राजनीति
 

  • जम्मू कश्मीर का भारत में विलयः भ्रांतियाँ और तथ्य

    जम्मू कश्मीर का भारत में विलयः भ्रांतियाँ और तथ्य

    26 अक्तूबर को जम्मू-कश्मीर के देशभक्त लोग हर बरस विलय दिवस मनाते हैं। इसी रोज 1947 में यहां के तत्कालीन शासक महाराजा हरि सिंह ने अपनी रियासत के भारत में विलय के लिए विलय-पत्र पर दस्तखत किए थे। गवर्नर जनरल माउंटबेटन ने 27 अक्तूबर को इसे मंजूरी दी। विलय-पत्र का खाका हूबहू वही था जिसका भारत में शामिल हुए अन्य सैंकड़ों रजवाड़ों ने अपनी-अपनी रियासत को भारत में शामिल करने के लिए इस्तेमाल किया था। न इसमें कोई शर्त शुमार थी और न ही रियासत के लिए विशेष दर्जे जैसी कोई मांग।

  • प्रधानमंत्री की खामोशी के अर्थ-अनर्थ

    प्रधानमंत्री की खामोशी के अर्थ-अनर्थ

    तय मानिए यह देश नरेंद्र मोदी को, मनमोहन सिंह की तरह व्यवहार करता हुआ सह नहीं सकता। पूर्व प्रधानमंत्री मजबूरी का मनोनयन थे, जबकि नरेंद्र मोदी देश की जनता का सीधा चुनाव हैं। कई मायनों में वे जनता के सीधे प्रतिनिधि हैं। जाहिर है उन पर देश की जनता अपना हक समझती है और हक इतना कि प्रधानमंत्री होने के बावजूद वे अपनी व्यस्तताओं के बीच भी हर छोटे-बड़े प्रसंग पर संवाद करें, बातचीत करें।

  • हाँ, आरएसएस राजनीति करता है

    हाँ, आरएसएस राजनीति करता है

    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ इस दशहरे (22 अक्टूबर, 2015) पर अपने नब्बे वर्ष पूरे कर रहा है। डॉ. केशव बलिराम हेडगेवार ने वर्ष 1925 में जो बीज बोया था, आज वह वटवृक्ष बन गया है। उसकी अनेक शाखाएं समाज में सब दूर फैली हुई हैं। संघ लगातार दसों दिशाओं में बढ़ रहा है। नब्बे वर्ष के अपने जीवन काल में संघ ने भारतीय राजनीति को दिशा देने का काम भी किया है।

  • बिहारमें विकास के नाम पर मतदान हुआ तो

    बिहारमें विकास के नाम पर मतदान हुआ तो

    देश का दूसरा सबसे बड़ा राज्य बिहार शीघ्र ही विधानसभा चुनावों से रूबरू होने जा रहा है। राज्य में मुख्य मुक़ाबला भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन तथा राज्य में सत्तारुढ़ जनता दल युनाईटेड के नेतृत्व में बने नए-नवेले महागठबंधन के मध्य है।

  • बिहार चुनावः अग्निपरीक्षा किसकी?

    बिहार चुनावः अग्निपरीक्षा किसकी?

    बिहार का चुनाव वैसे तो एक प्रदेश का चुनाव है, किंतु इसके परिणाम पूरे देश को प्रभावित करेंगें और विपक्षी एकता के महाप्रयोग को स्थापित या विस्थापित भी कर देगें। बिहार चुनाव की तिथियां आने के पहले ही जैसे हालात बिहार में बने हैं, उससे वह चर्चा के केंद्र में आ चुका है।

  • कश्मीर घाटी में हो रहे वैचारिक प्रदूषण को सिर्फ आर्थिक प्रावधानों से नहीं रोका जा सकता

    कश्मीर घाटी में हो रहे वैचारिक प्रदूषण को सिर्फ आर्थिक प्रावधानों से नहीं रोका जा सकता

    भारत के जम्मू कश्मीर राज्य के बारे में कई प्रकार की भ्रांतियां अक्टूबर १९४७ में इस राज्य का भारत के साथ अधिमिलन होने के बाद भी पनपती रही है.

  • राजनीति में शुचिता के सवाल

    राजनीति में शुचिता और पवित्रता के सवाल अब हवा हो गए लगते हैं। जोर अब सादगी, शुचिता और ईमानदारी पर नहीं है। आप हमसे अधिक भ्रष्ट हैं, यह कहकर अपने पाप कम करने की कोशिशें की जा रही हैं। समाज इस नजारे को भौंचक होकर देख रहा है। देश के हर राज्य में ऐसी कहानियां […]

  • भाजपा संकट पर भाजपा और संघ की बैठक मुंबई में

    मुंबई में शुक्रवार से भाजपा और आरएसएस की एक खास बैठक शुहोने जा रही है। 26-28 जून तक चलने वाली इस तीन दिवसीय बैठक में भाजपा और आरएसएस के कई बड़े पदाधिकारी शामिल होंगे। इस बैठक में जहां मोदी विवाद की वजह से पार्टी को जो नुकसान हुआ है उस पर चर्चा होगी वहीं इस […]

  • छोटे मोदी ने बड़े मोदी की बोलती बंद कर दी

    लालकृष्ण आडवाणी ने बिना कहे ही सब बात कह दी है। देश की वर्तमान स्थिति पर इतनी दूरंदेश और प्रज्ञावान टिप्पणी आडवाणी ही दे सकते हैं। उन्होंने कहा है कि देश में आपातकाल का दरवाज़ा बंद नहीं हुआ है। संवैधानिक बंदिशें तो इंदिराजी के समय भी थीं और अब भी हैं लेकिन उन्हें वर्तमान नेताओं […]

  • अमित शाह भाजपा की टीम में फेरबदल किया

    बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने  अपनी टीम में फेरबदल करते हुए तीन नए उपाध्यक्ष और इतनी ही संख्या में नए महासचिव तथा चार नए सचिव नियुक्त किए।मध्य प्रदेश के मंत्री कैलाश विजयवर्गीय को भी केंद्रीय टीम में शामिल कर लिया गया है। नरेंद्र मोदी सरकार में पार्टी के कुछ पदाधिकारियों को शामिल किए जाने से […]

Back to Top