आप यहाँ है :

मध्य रेल पर राजभाषा पखवाड़े का शुभारंभ

मध्य रेल मुख्यालय में दिनांक 14 सितम्बर 2015 को हिन्दी दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम में अपर महाप्रबंधक श्री आर.डी.त्रिपाठी ने मॉं सरस्वती की प्रतिमा को माल्यार्पण तथा दीप प्रज्वलित कर राजभाषा पखवाडे का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उप महाप्रबंधक (राजभाषा) श्री विपिन पवार ने राजभाषा पखवाड़े के दौरान आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों की रूपरेखा प्रस्तुत की। इस अवसर पर कार्यक्रम के अध्यक्ष एवं अपर महाप्रबंधक द्वारा माननीय रेल मंत्री तथा मुख्य राजभाषा अधि‍कारी द्वारा माननीय गृह मंत्री के हिन्दी दिवस संदेश का वाचन किया गया। तत्पश्चात उप महाप्रबंधक (राजभाषा) द्वारा महाप्रबंधक श्री एस.के.सूद के हिन्दी दिवस संदेश का वाचन किया गया।

28 सितम्बर तक चलने वाले इस राजभाषा पखवाड़े के दौरान मध्य रेल के प्रधान कार्यालय में अनेक साहित्य‍िक कार्यक्रमों, सांस्कृतिक कार्यक्रमों एवं प्रतियोगिता का आयोजन किया जाऐगा जिनमें हिन्दी निबंध, हिन्दी टि‍प्पण एवं प्रारूप लेखन, हिन्दी वाक प्रतियोगिता, भारत में भाषायी सौहार्द विषय पर रंगोली प्रतियोगिता, अधि‍कारियों के लिए हिन्दी डिक्टेशन कार्यशाला एवं राजभाषा प्रश्न मंच, कर्मयारियों के लिए हिन्दी कार्यशाला एवं राजभाषा प्रश्न मंच तथा सरकारी नीतियों के कार्यान्वयन में हिन्दी का महत्व विषय पर संगोष्ठी का आयोजन किया जायेगा। राजभाषा पखवाडे के समापन समारोह के अवसर पर विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेता प्रति‍भागियों को मध्य रेल के महाप्रबंधक श्री सुनील कुमार सूद द्वारा पुरस्कार प्रदान किया जायेगा।

इसके साथ-साथ मध्य रेल के प्रत्येक मंडल, कारखाने और उत्पादन युनिटों में राजभाषा पखवाडे का आयोजन किया जायेगा जिसके दौरान रेल अधिकारियो एवं रेल कर्मचारियों के लिए विभि‍न्न हिन्दी प्रतियोगिताएं रखी गयी है।

वरिष्ठ राजभाषा अधिकारी (मुख्यालय) श्री राम प्रसाद शुक्ल ने धन्यवाद ज्ञापन प्रस्तुत करते हुए उपस्थ‍ित सभी अधि‍कारियों एवं कर्मचारियों से राजभाषा पखवाडे के अवसर पर आयोजित प्रतियोगिताओं में बढ़-चढ़कर भाग लेने तथा अपने अधीनस्थ अधि‍कारियों तथा कर्मचारियों को भी इन प्रतियोगिताओं में भाग लेने के लिए आग्रह किया।

दीप प्रज्वलित कर राजभाषा पखवाड़े का शुभारंभ करते हुए मध्य रेल के अपर महाप्रबंधक श्री आर.डी.त्रिपाठी एवं मुख्य राजभाषा अधि‍कारी श्री एस.के. कुलश्रेष्ठ

To Follow Central Railway on Facebook Click HERE

To follow Central Railway on Twitter Click HERE

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top