ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

डिजाइनिंग के क्षेत्र में कॅरियर की राह करेगा आसान ऑटोडेस्क

भोपाल । राशि इंस्टीट्यूट ऑफ सॉफ्टवेयर एजुकेशन (राइज RISE) द्वारा “ऑटोडेस्क इन पोस्ट सेकेंडरी एजुकेशन्य” विषय पर होटल रेसीडेंसी में एक कार्यशाला आयोजित की गई। ऑटोडेस्कए जो एक डिजाइनिंग सॉफ्टवेयर कंपनी है, के बारे में बारीकी से बताया गया। डिजाइनिंग के क्षेत्र में जो छात्र.छात्राएं अपना कॅरियर बनाना चाहते हैंए उनके लिए ऑटोडेस्क के सॉफ्टवेयर माइलस्टोन साबित होगें।

आज के तकनीकी दौर में स्वरोजगार एवं डिजाइनिंग में अपना कॅरियर बनाने वाले छात्र.छात्राएं किस सॉफ्टवेयर को चुनें यह एक चिंता का विषय हैए उसके कॅरियर में ऑटोडेस्क के सॉफ्टवेयर काफी मददगार हैं। पोस्ट सेकेंडरी के बाद सॉफ्टवेयर की मदद से तकनीकी ज्ञान में दक्षता प्राप्त कर कॅरियर आसानी से बनाया जा सकता है। जो कि एक नई पहचान और मुकाम हासिल करने में सहयोग करेगा। ऑटोडेस्क के साफ्टवेयर इंजीनियरिंग छात्र.छात्राओंए एजुकेटर एवं सभी शैक्षणिक संस्थाओं को निरूशुल्क उपलब्ध है।

राइज के निदेशक ललित बघेल ने बताया कि राइज पिछले दो साल से शहर में ऑटोडेस्क डिजाइनिंग की विशेष ट्रेनिंग सेवाएं प्रदान कर रहा है। राइज सॉफ्टवेयर ट्रेनिंग के अलावा ऑटोडेस्क सर्टिफिकेशन भी करवाता हैए जो बच्चों के कॅरियर के लिए बहुत लाभदायक होगा।

इस अवसर पर मिलेनियम ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट के चेयरमैन श्री विनोद यादव ने बताया कि आज के दौर में तकनीकी शिक्षा काफी जरूरी हैए लेकिन महंगाई के कारण यह सभी के लिए सुलभ नहीं है। वहीं ऑटोडेस्क ने संस्थानों और छात्रों को फ्री लाइसेंस उपलब्ध कराकर डिजाइनिंग क्षेत्र में महत्वपूर्ण कार्य किया है। विशेष अतिथि मैनिट के डॉण् आलोक सिंह बघेल ने बताया कि आज कॅरियर के हर क्षेत्र में डिजाइनिंग की जरूरत है और डिजाइनिंग से कोई अछूता नहीं हैए जिसे राइज ने भलिभांति समझा। शहर में ऑटोडेस्क के विशेषज्ञों द्वारा प्रशिक्षण उपलब्ध कराया जा रहा है।

इंडस्ट्रीज में आवश्यकता के आाधार पर करियर चुनें।

कार्यक्रम में आए मनीष मुदोतिया (ऑटोडेस्क के रिप्रेसेटिव) ने ऑटोडेस्क सॉफ्टवेयर के तकनीकी पहलुओं को सहज और विशेष प्रस्तुति के माध्यम से शहर से आए फैकल्टी एवं प्रतिनिधियों को अवगत कराया और उसकी आवश्यकता को समझाया। साथ में बताया कि इंडस्ट्रीज में आवश्यकता के आाधार पर करियर चुनें। डिजाइनिंग के क्षेत्र में कॅरियर की अपार संभावना है और बहुराष्ट्रीय कंपनियों एवं देश की कंपनियों में डिजाइनिंग की काफी मांग हैए जिसमें ऑटोडेस्क साफ्टवेयर ट्रेंड प्रोफेशनल आसानी से कॅरियर बना सकेंगे।

इस मौके पर राइज के निदेशक ललित बघेल, विनोद यादव (चेयरमैन मिलेनियम ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट) आलोक सिंह बघेल (मैनिट भोपाल) आर्किटेक्ट सुमित गोथी,मनीष मुदोतिया और शहर के तमाम इंजीनियरिंग कॉलेज एवं मेडिकल एवं सिविल इंजीनियरिंग क्षेत्र के प्रोफेशनल्स और फैकल्टी मौजूद थे।

संपर्क
DS Rajawat [ekhabar]

Land Line: 91-755-4245810
Mobile: 91-9993018769
www.codexinfotech.com

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top