आप यहाँ है :

गुजरात के मैकेनिक ने बनाया एसी सोफा

अहमदाबाद। गुजरात के एक रिपेयरमैन ने सफलतापूर्वक एसी सोफा तैयार किया है, जिसे घर के बाहर भी इस्‍तेमाल किया जा सकता है। इसमें बिजली की खपत भी कम होती है। गांधी नगर के रहने वाले दशरथ पटेल ने इसे तैयार किया है।

एसी की रिपेयरिंग करने वाले दशर‍थ के मन में एसी सोफा को बनाने का विचार कुछ साल पहले आया था। उन्‍हें इस प्रोडक्‍ट को विकसित करने में नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिजाइन से मदद मिली। पटेल ने बताया कि वह इस सोफे को बाजार में एक से 1.5 लाख रुपए की रेंज में लॉन्‍च करेंगे।

इस बारे में दशरथ बताते हैं कि उन्‍होंने वर्ष 2008 में पहली बार सोफे में एसी लगाने के बारे में सोचा और तभी से इस पर काम करना शुरू कर दिया। उन्‍होंने बताया कि पहला ऐसा सोफा, जो बनकर तैयार हुआ, उसका वजन करीब 175 किलो था। इसके बाद उन्‍हें एमएसएमई मंत्रालय की 'डिजाइन क्‍लीनिकल स्‍कीम' के बारे में पता चला।

वहां संपर्क करने पर दशरथ को एक डिजाइनर मुहैया कराया गया, जिसने सोफे के डिजाइन को मॉडीफाइड किया और उसमें लगे मटीरियल को बदल दिया। इसके बाद बने सोफे का वजन करीब 35 किलो हो गया। एनआईडी के पूर्व छात्र अंकित व्‍यास ने हल्‍के सोफे को बनाने में दशरथ की मदद की।

सोफे का डिजाइन बनाने वाले व्‍यास ने बताया कि पुराना सोफा लकड़ी से बना था। उसमें एसी का हौज पाइप भी लकड़ी का ही बनाया गया था, जिसके चलते वह भारी हो गया था। मैंने इस सोफे में लकड़ी की जगह ग्‍लास फाइबर का इस्‍तेमाल किया और पाइप के लिए पीवीसी का इस्‍तेमाल किया।

साभार- दैनिक नईदुनिया से 

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top