Thursday, April 25, 2024
spot_img
Homeसूचना का अधिकारओएसडी नियुक्तियाँ; मुख्यमंत्री को भी बाहरी उम्मीदवार का मोह

ओएसडी नियुक्तियाँ; मुख्यमंत्री को भी बाहरी उम्मीदवार का मोह

9 ओएसडी में से 6 उम्मीदवार बाहरी; केवल 3 सरकारी अधिकारी

राज्य में 2.44 लाख से ज्यादा पद रिक्त हैं और भरती प्रक्रिया रुकी हुई है। वहीं, मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के मुख्यमंत्री सचिवालय में ओएसडी के 9 में से 6 पदों पर बाहरी उम्मीदवार हैं। केवल 3 सरकारी अधिकारी हैं। यह जानकारी आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगली को महाराष्ट्र सरकार ने दी। यहां तक ​​कि मुख्यमंत्री भी बाहरी उम्मीदवारों के मोह में अधिक है।

आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगली ने महाराष्ट्र सरकार से मुख्यमंत्री सचिवालय में कार्यरत ओएसडी के बारे में विभिन्न जानकारी मांगी थी। सामान्य प्रशासन विभाग की कक्ष अधिकारी कल्याणी धरप ने वर्तमान में मुख्यमंत्री सचिवालय में कार्यरत ओएसडी की सूची अनिल गलगली को प्रदान की। कुल 9 ओएसडी उम्मीदवारों में से 6 बाहर से हैं जबकि केवल 3 ओएसडी सरकारी हैं। जो 6 उम्मीदवार बाहरी हैं उनमें मंगेश चिवटे, विनायक पात्रुडकर, आनंद माडिया, आशीष कुलकर्णी, अमित हुक्केरीकर और मारुति सालुंखे शामिल हैं। तीन सरकारी अधिकारी हैं इनमें डॉ. राजेश कवले, डॉ. राहुल गेठे और डॉ. बाल सिंह राजपूत है।

शैक्षणिक योग्यता की जानकारी उपलब्ध नहीं है

मुख्यमंत्री सचिवालय में कार्यरत विशेष कार्य अधिकारी यानि ओएसडी की शैक्षणिक योग्यता की जानकारी उपलब्ध नहीं होने के कारण गलगली को सलाह दी गई है कि मुख्यमंत्री सचिवालय से वह जानकारी प्राप्त कर लें। ओएसडी के कार्यों के मूल्यांकन के संबंध में मुख्यमंत्री सचिवालय से जानकारी प्राप्त करने की भी सलाह दी गयी है। इन्हें प्राप्त कुल मासिक आय के संबंध में गलगली आवेदन कार्यासन 21 में स्थानांतरित कर दिया गया है।

अनिल गलगली के मुताबिक राज्य में बेरोजगारी बढ़ी है। लाखों पद रिक्त हैं। बाहरी अभ्यर्थियों की अस्थाई भर्ती के स्थान पर स्थाई भर्ती की जाए। गलगली ने सभी ओएसडी के काम का मूल्यांकन करने और उसकी जानकारी सार्वजनिक करने की भी मांग की है।

(लेखक जाने-माने आईटीआईकार्यकर्ता हैं।)

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार