आप यहाँ है :

सोशल मीडिया पर छा गए मोदी जी और शाह

मोदी सरकार ने ऐतिहासिक फैसला लेते हुए जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटा ली है।इस फैसले की सोशल मीडिया पर मजेदार प्रतिक्रियाएँ आ रही है। लोग दिल खोलकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की तारीफ कर रहे हैं। । इसका विरोध करने वाले कश्मीरी नेताओं पर भी लोग तीखे कटाक्ष कर रहे हैं। लोग इस बात से खुश हैं कि अब जम्मू कश्मीर में कोई भी जमीन जायदाद खरीद सकेगा।

देखिये लोगों की मजेदार प्रतिक्रियाएँ

हमेशा सरकारें सोचती थी कि आतंकी क्या करने वाले हैं। पहली बार आतंकी सोच रहे हैं सरकार क्या करने वाली है।

कॉन्फिडेंस की भी हद होती है : अभी अभी एक प्रोपेर्टी डीलर का फोन आया….कश्मीर में प्लाट चाहिए तो बतलाए।

भारतमाता के माथे की पुरातन पीर हरने के लिए सरकार का आभार ! हर नागरिक से अनुरोध है कि दशकों से लंबित इस शल्यक्रिया के दौरान देश के साथ रहें ! ये ऐतिहासिक क्षण हैं।

“दर्द कहाँ तक पाला जाए, युद्ध कहां तक टाला जाए, तू भी है राणा का वंशज, फेंक जहाँ तक भाला जाए।

Kashmir Article 370: सरकार के ऐतिहासिक फैसले पर लगी राष्ट्रपति की मुहर
यह भी पढ़ें

JK में सभी देश भक्त DJ वाले गाना बजा रहे हैं! ओ मेरी महबूबा महबूबा महबूबा! तुझे जाना है तो जा, तेरी मर्जी मेरा क्या,,,

कश्मीर का सिर्फ 45 फीसद हिस्सा है भारत के पास, जानें कितने पर है पाक का कब्जा
यह भी पढ़ें

मेरे कुंवारे दोस्तों करों तैयारी.,, 15 अगस्त के बाद कश्मीर में हो सकती हैं ससुराल तुम्हारी।

अमित शाह जबसे गृहमंत्री बने हैं” तब से JNU वाले आजादी की मांग छोड़कर” अब सिर्फ पढ़ाई कर रहे हैं”

मैंने सरदार पटेल को नहीं देखा पर वो यकीनन अमित शाह जैसे होंगे।

मोटा भाई और मोदीजी के अलावा कोई नहीं जानता कि कश्मीर में क्या होगा? इसी को सरकार कहते हैं।

आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद ने ट्वीट कर पीएम मोदी और अमित शाह को बधाई दी और लिखा – कश्मीर भारत माता का भव्य-भाल है ! यह निर्णय ऐतिहासिक मंगलमय,अत्यंत शुभ एवं कल्याणकारक है | अनेक शुभकामनाएं ! राष्ट्र इस निर्णय के लिये कृतज्ञ रहेगा !!

गजब का है ये दिन….सोचो जरा उमर – हम भी अकेले… महबूबा – मजा आ रहा है? ….पब्लिक – कसम से।

पहले सोमवार चंद्रयान 2. दूसरे सोमवार तीन तलाक बिल. तीसरा सोमवार जम्मू कश्मीर 370. चौथा सोमवार सिर्फ मोदी ही जाने।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top