आप यहाँ है :

निकि- भारत की अपनी लोकल एजेंट

निकि (Niki,) भारत का पहला और एकमात्र ऐसा बी 2 सी कॉमर्स ऐप है जो, देश के आम लोगों को ऑनलाइन लेनदेन में प्रोत्साहित करते हुए सशक्त बना रहा है। देश के टियर 2/3/4 में रहने वाले भारतीयों की जरूरतों के अनुसार बना यह ऐप वर्तमान समय में अंग्रेजी के अलावा हिन्दी,बांग्ला और तमिल भाषा में लोगों को ऑनलाइन लेनदेन में मदद कर रहा है।

इस ऐप का निर्माण 2015 में IIT खड़गपुर के चार पूर्व छात्रों सचिन जायसवाल, केशव प्रवासी, नितिन बाबेल और शिशिर मोदी ने किया था।

निकी की सफलता और इसके उज्जवल भविष्य को देखते हुए श्री रतन टाटा, रॉनी स्क्रूवाला के यूनिलैजर वेंचर्स, जापान के रिक्रूट स्ट्रैटेजिक पार्टनर्स और यूएस-आधारित वेंचर फंड ईएमवीसी सहित कई लोगों द्वारा Niki को ऐप के निर्माण के लिए प्रोत्साहन और फंड प्राप्त हुआ है।

इस ऐप का निर्माण 2015 में IIT खड़गपुर के चार पूर्व छात्रों सचिन जायसवाल, केशव प्रवासी, नितिन बाबेल और शिशिर मोदी ने किया था। ऐप को बनाते समय निकी के सभी संस्थापकों का यह मानना था कि ऐप ऐसा होना चाहिए जिसकी मदद से देश के टियर 2/3/4 में रहने वाले भी बगैर किसी परेशानी के आसानी से ऑनलाइन लेनदेन कर सकें। मध्यम वर्ग से आने के कारण निकी के संस्थापकों ने अपने परिवार और रिश्तेदारों को टेक्नोलॉजी के साथ तालमेल बनाने में संघर्ष करते हुए देखा था। उन्हें इस बात का एहसास था कि वर्तमान समय में ऑनलाइन लेनदेन के लिए मौजूद ऐप जटिल इंटरफेस वाले हैं और लोगों की जरूरतों को पूरा नहीं करते हैं।

लोगों की मानसिकता की गहरी परख और समझ होने के कारण, निकी को इस तरह से डिजाइन किया कि इसकी मदद से सामान्य से सामान्य व्यक्ति भी ऑनलाइन लेनदेन आसानी से कर सकें।

निकी देश का पहला और एकमात्र ऐसा ऐप है जो लोगों को आवाज़ आधारित सेवा उनकी भाषा में उपलब्ध कराता है। आवाज़ की सुविधा होने से ऐसे लोग भी निकी का इस्तेमाल कर सकते हैं जो टाइप करना नहीं जानते। सहज और सरल इंटरफेस होने के कारण पहली बार इंटरनेट उपयोग करने वाला उपभोक्ता भी अपनी भाषा में बात करते हुए बगैर कहीं अटके आसानी से ऑनलाइन लेनदेन पूरा कर सकते हैं।

निकी के कुछ मुख्य फीचर हैं –

∙ अपनी भाषा में बातचीत करते हुए ऑनलाइन लेनदेन करना

∙ बगैर टाइप किए भी ऑनलाइन लेनदेन पूरी करने की सुविधा

∙ हैंडहोल्डिंग करते हुए प्रत्येक कदम पर लेनदेन पूरा करने का आश्वासन

∙ 100% ऑर्डर पूरा होने की गारंटी

∙ इंश्योरेंस कार्ड – जिससे उपभोक्ताओं के उनके पैसे को पूरी गारंटी मिलती है

∙ 24×7 वीडियो कॉल की सुविधा

∙ 100 से अधिक सेवाओं की सुविधा

वर्तमान समय में Niki अंग्रेजी सहित भारतीय भाषाओं हिन्दी, बगंला और तमिल में लेनदेन की सुविधा दे रही है, लेकिन 2020 में निकी की मदद से मराठी, कन्नाड़ा, तमिल सहित 7 अन्य भाषाओं को जानने वाले भी ऑनलाइन लेनदेन कर सकेंगे। Niki ऐप के आसान और उपभोक्ताओं की जरूरत अनुसार बने फीचर का परिणाम यह रहा कि अक्टूबर 2018 में निकी में हिन्दी फीचर लाने के बाद से अभी तक इसमें 750% तक की वृद्धि दर्ज की गई है।

महीने दर महीने 30% प्रभावशाली वृद्धि के साथ, Niki ने हिंदी, बंगाली और तमिल में 1 मिलियन से अधिक लेनदेन को पूरा किया है। वर्तमान समय में हिन्दी बेल्ट में 18,000 इलाकों में अपने पदचिन्हों के साथ Niki काफी मजबूत प्रतिनिधित्व कर रही है और जल्द ही यह संख्या 25,000 पहुंच जाएगी।

निकी की सफलता और इसके उज्जवल भविष्य को देखते हुए श्री रतन टाटा, रॉनी स्क्रूवाला के यूनिलैजर वेंचर्स, जापान के रिक्रूट स्ट्रैटेजिक पार्टनर्स और यूएस-आधारित वेंचर फंड ईएमवीसी सहित कई लोगों द्वारा Niki को ऐप के निर्माण के लिए प्रोत्साहन और फंड प्राप्त हुआ है।

मिशन

देश के 50 करोड़ नए इंटरनेट उपयोगकर्ताओं को ऑनलाइन लेनदेन करने वाले उपभोक्ताओं में बदलना।

विजन

ऑनलाइन लेनदेन के मौजूदा ऐप के जटिल इंटरफेस और स्थानीय भाषा की परेशानी को दूर करते हुए निकी को ऑनलाइन लेनदेन में भारत के रहने वाले टियर 2/3/4 के प्रत्येक इंटरनेट उपभोक्ताओं को उनके ऐसे लोकल एजेंट की तरह सेवा देना जिसपर उन्हें भरोसा है और जिसकी मदद से उनका हर काम सरलता से पूरा होता है।

संपर्क

Shadab Anwar

PR / Media Desk

+91 9832915653 / 8310035148

Facebook | Twitter | LinkedIn |

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top