आप यहाँ है :

हिंदी को सिर्फ पखवाड़ा नहीं, रोजमर्रा से जोड़कर देखने की जरूरत-डाक निदेशक कृष्ण कुमार यादव

हिंदी हमारे रोजमर्रा की भाषा है और इसे सिर्फ पखवाड़ा से जोड़कर देखने की जरूरत नहीं है। जरूरत इस बात की है कि हम इसके प्रचार-प्रसार और विकास के क्रम में आयोजनों से परे अपनी दैनिक दिनचर्या से भी जोड़ें। उक्त उद्गार राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने प्रधान डाकघर, जोधपुर में आयोजित हिन्दी पखवाड़ा के समापन और सम्मान समारोह में व्यक्त किये।

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि हिन्दी अपनी सरलता, सुबोधता, वैज्ञानिकता के कारण ही आज विश्व में दूसरी सबसे बड़ी बोली जाने वाली भाषा है। हिन्दी सिर्फ साहित्य ही नहीं बल्कि विज्ञान से लेकर संचार-क्रांति, सूचना-प्रौद्योगिकी और नवाचार की भाषा भी है। जैसे-जैसे विश्व में भारत के प्रति दिलचस्पी बढ़ रही है, वैसे-वैसे हिन्दी के प्रति भी रुझान बढ़ रहा है। वैश्वीकरण के इस दौर में आर्थिक उदारीकरण ने हिन्दी को और बढ़ावा दिया क्योंकि बाजार को लोगों तक पहुँच स्थापित करने के लिए उनकी भाषा में ही संवाद करना होता है।

हाल ही में राष्ट्रपति द्वारा ‘राजभाषा गौरव पुरस्कार’ से सम्मानित चर्चित विज्ञान लेखक और साहित्यकार डॉ. दुर्गा दत्त ओझा ने कार्यक्रम को विशिष्ट अतिथि के रूप में संबोधित करते हुए कहा कि विश्व में एक मात्र हिन्दी ही भाषा है जिसमें सभी भाषाओं के शब्द समाहित कर इसका विचारशील प्रयोग किया जा सकता है। विज्ञान जैसे गंभीर विषय से लोगों को जोड़ने में हिन्दी का अनुपम योगदान है। सहज लेखन के साथ हिन्दी आधुनिक विज्ञान के साथ बेहतर तालमेल बिठाने में सक्षम है।

प्रवर डाक अधीक्षक, जोधपुर मंडल श्री बी. आर. सुथार ने कहा कि संविधान में वर्णित सभी प्रांतीय भाषाओं का पूर्ण आदर करते हुए इस विशाल बहुभाषी राष्ट्र को एक सूत्र में बांधने में भी हिन्दी की एक महत्वपूर्ण भूमिका है। ऐसे में हिन्दी भाषा के प्रयोग पर हमें गर्व महसूस करना चाहिए।

हिंदी पखवाड़ा के दौरान जोधपुर प्रधान डाकघर में आयोजित कार्यक्रम के विजेताओं को निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने सम्मानित भी किया। हिंदी निबंध प्रतियोगिता में नीतू प्रजापत, नरेन्द्र सोनी, रामनिवास वैष्णव, वाद-विवाद प्रतियोगिता में प्रवीण कुमार, नरेन्द्र सोनी, रामनिवास वैष्णव एवं काव्य पाठ प्रतियोगिता में नीतू प्रजापत, किशोर भाटी, अशोक यादव, को पुरस्कार से सम्मानित किया गया। वहीं जोधपुर मंडल कार्यालय व उपमंडल कार्यालय हेतु संयुक्त रूप से आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं के अंतर्गत हिंदी निबंध प्रतियोगिता में हुकमाराम, कान्ता जोशी, मदनलाल, हिंदी श्रुतिलेख प्रतियोगिता में जितेन्द्र गर्ग, विजय सिंह, रामेश्वर लाल, काव्य पाठ प्रतियोगिता में कवरलाल शर्मा, श्यामलाल शर्मा एवं विभागीय कामकाज में हिन्दी का उपयोग करने में संगीता शर्मा को पुरस्कृत किया गया।

कार्यक्रम में सहायक निदेशक राजभाषा इशरा राम, सहायक अधीक्षक उदय शेजू, मूल सिंह, राजेंद्र सिंह भाटी, निरीक्षक रमेश जांगिड़, देवी चंद्र कटारिया, विजय सिंह सहित तमाम विभागीय अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन सहायक अधीक्षक विनय कुमार खत्री और आभार ज्ञापन प्रवर डाकपाल आर.पी. कुशवाहा द्वारा किया गया।

आर.पी. कुशवाहा
प्रवर डाकपाल,
प्रधान डाकघर जोधपुर-342001

Print Friendly, PDF & Email


सम्बंधित लेख
 

ईमेल सबस्क्रिप्शन

PHOTOS

VIDEOS

Back to Top