ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

रॉकेट मैन सीवान बने इसरो के नए अध्यक्ष

नई दिल्ली : जानेमाने वैज्ञानिक सिवान के को सरकार ने बुधवार (10 जनवरी) को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) का अध्यक्ष नियुक्त किया. सिवान इससे पहले 104 सैटेलाइट को एक साथ अंतरिक्ष में भेजने में इसरो की मदद कर चुके हैं. उन्होंने ए एस किरण कुमार का स्थान लिया है. कार्मिक मंत्रालय की ओर से जारी एक आदेश के मुताबिक मंत्रिमंडल की नियुक्ति संबंधी समिति ने अंतरिक्ष विभाग में सचिव पद और अंतरिक्ष आयोग के अध्यक्ष पद पर उनकी नियुक्ति को मंजूरी दी. उनका कार्यकाल तीन वर्ष का होगा. सिवान वर्तमान में विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र में निदेशक हैं. वह कुमार का स्थान लेंगे जिनकी नियुक्ति 12 जनवरी 2015 को हुई थी.

सिवान के से जुड़ी खास बातें
1-सिवान के ने वर्ष 1980 में मद्रास इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग में स्नातक किया.

2-वर्ष 1982 में बेंगलुरू के आईआईएससी से एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में स्नातकोत्तर किया.

3-आईआईटी बॉम्बे से उन्होंने वर्ष 2006 में एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में पीएचडी पूरी की.

अंतरिक्ष में नई उड़ान भरने के लिए तैयार भारत, ISRO एक साथ लॉन्च करेगा 31 सैटेलाइट

4-सिवान वर्ष 1982 में इसरो में आए और पीएसएलवी परियोजना पर उन्होंने काम किया.

5-उन्होंने एंड टू ऐंड मिशन प्लानिंग, मिशन डिजाइन, मिशन इंटीग्रेशन ऐंड ऐनालिसिस में काफी योगदान दिया.

6-वह इंडियन नेशनल ऐकेडमी ऑफ इंजीनियरिंग, एयरोनॉटिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया और सिस्टम्स सोसाइटी ऑफ इंडिया में फैलो हैं.

7-कई जर्नल में सिवान के के पेपर प्रकाशित हुए हैं.

8- उन्हें कई पुरस्कारों से नवाजा गया है. उन्हें चेन्नई की सत्यभामा यूनिवर्सिटी से अप्रैल 2014 में मिला डॉक्टर ऑफ साइंस और वर्ष 1999 में मिला श्री हरी ओम आश्रम प्रेरित डॉ विक्रम साराभाई रिसर्च अवॉर्ड शामिल है.



सम्बंधित लेख
 

Back to Top