Saturday, May 25, 2024
spot_img
Homeप्रेस विज्ञप्तिहाड़ोती अंचल के रचनाकारों से शिव प्रसाद शर्मा स्मृति काव्य रत्न सम्मान...

हाड़ोती अंचल के रचनाकारों से शिव प्रसाद शर्मा स्मृति काव्य रत्न सम्मान के लिए प्रविष्ठियां आमंत्रित

हाड़ोती अंचल के रचनाकारों से शिव प्रसाद शर्मा स्मृति काव्य रत्न सम्मान के लिए प्रविष्ठियां आमंत्रित
मीडिया डेस्क

कोटा। रंगीतिका कला, साहित्य और संस्कृति संस्थान कोटा द्वारा हाड़ौती अंचल के काव्य लेखन की परंपरा में सक्रियता को अक्षुण्ण बनाए रखने के लिए साहित्य पुरोधा एवं शिक्षाविद् ,स्व.पं.शिवप्रसाद शर्मा की स्मृति में शिव प्रसाद शर्मा स्मृति काव्य रत्न सम्मान 2024 के लिए हाड़ौती अंचल के रचनाकारों से प्रविष्ठियां आमंत्रित की गई हैं।

संस्था अध्यक्ष श्रीमती स्नेहलता शर्मा ने बताया कि रचनाकार जनवरी 2021से दिसम्बर 2023 तक प्रकाशित काव्य कृति की दो प्रतियां संस्था कार्यालय म.न. 2, महावीर नगर विस्तार योजना,सेकटर 5,कमल बेकरी के पास, कोटा -324009 को भेज सकते हैं।

प्रविष्ठियां भेजने की अंतिम तिथि 10 मई 2024 है।

उन्होंने बताया कि चयनित रचनाकार को 2100 रुपए नकद, शाल, श्रीफल, और सम्मान पत्र दिया जाकर समादृत किया जाएगा। निर्णायक मंडल का निर्णय अंतिम होगा। पुरस्कार प्राप्ति के लिए चयनित रचनाकार को स्वयं व्यक्तिश: उपस्थित होना होगा‌, संस्था द्वारा किसी प्रकार का यात्रा-व्यय देय नहीं होगा। सम्मान की घोषणा लगभग एक सप्ताह पूर्व कर दी जाएगी। सम्मान समारोह आयोजन 28 मई 2024 निर्धारित है, परिवर्तित होने पर यथा समय सूचित किया जाएगा। आवश्यकता होने पर मोबाइल नंबर 9602943772 पर संपर्जंक किया जा सकता है।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार