Wednesday, April 24, 2024
spot_img

Monthly Archives: April, 2022

मुरझाए फूल खिल उठे…..

होौसला बढ़ा मै लिखता गया, कभी - कभी वे कुछ सुधार करते रहे। कुछ अंतराल पर दो - तीन बार मृत्युंजय पर फिर लिखा। उसे भी आगे बढ़ने की प्रेरणा मिली और वह आज डॉक्टर बन गया।

भोपाल में म,प्र, को गौरव प्रदान करने वाली हस्तियों का सम्मान

इस अवसर पर मध्यप्रदेश प्रेस क्लब के अध्यक्ष डॉ. नवीन आनंद जोशी ने बताया कि नव रत्न अलंकरण समारोह का यह दूसरा वर्ष है.. अंत में महासचिव नितिन वर्मा ने आभार प्रदर्शन किया.. कार्यक्रम का गरिमामय संचालन कला मर्मज्ञ विनय उपाध्याय ने किया।

आज पूरा विश्व भारत की ओर क्यों देख रहा है

पूंजीवादी मॉडल के अंतर्गत आर्थिक विकास की गति को बढ़ाने के उद्देश्य से विभिन्न पदार्थों के अधिक से अधिक उत्पादन एवं उपभोग पर जोर दिया जाता है, जिसके चलते प्राकृतिक संसाधनों का शोषण किया जाता है।

वैदिक संस्कृत के उपासक:महात्मा प्रेमभिक्षु जी

जो आज भी प्रकाशित हो रहा है। 1960 में आपने विरजानन्द वैदिक साधना आश्रम की स्थापना की तथा इसके माध्यम से वैदिक परिवार निर्माण तथा वैदिक प्रचारक निर्माण का कार्य आपने किया। 1976 में आपने वानप्रस्थ आश्रम की दीक्षा ग्रहण कर महात्मा प्रेमभिक्षु नाम ग्रहण किया। आप वैदिक सिद्धांतों का अडिगता से पालन करने वाले थे।

जहाँगीरपुरी हिंसा पर फैक्ट फाइंडिंग टीम की रिपोर्ट आई सामने

दिल्ली के जहाँगीरपुरी (Jahangirpuri Violence) में हनुमान जयंती के मौके पर 16 अप्रैल को हुई हिंसा पर फैक्ट फाइंडिंग टीम की रिपोर्ट सामने आई है। इस रिपोर्ट को बुद्धिजीवियों और शिक्षाविदों के समूह (जीआईए) द्वारा तैयार किया गया है।

डॉ. दीपक कुमार श्रीवास्तव ‘शान-ए- राजस्थान’ से सम्मानित

आप वर्तमाम में इनेली साउथ एशिया मेंटर हैं तथा दक्षिण एशियाई देशों के सार्वजनिक पुस्तकालयाध्यक्षों को मार्गदर्शन दे रहे हैं। कोविड के दौरान आपके व्हाटसएप इनिशियेटीव ‘नॉलेज एट योर डोर स्टेप’इफ्ला तथा अमेरीकन लाईब्रेरी एसोशियेसन (एएलए) ने अपनी ग्लोबल रिपोर्ट में शामिल किया गया है ।

स्नेहा सोरेन ने स्वर्ण पदक जीतकर कीट का बढाया मान

बैंगलोर में चल रहे खेलो इण्डिया यूनिवर्सिटी गेम के 49केजी वेटलिफ्टिंग श्रेणी में कीट की स्नेहा सोरेन ने स्वर्ण पदक जीत कर अपने कीट डीम्ड विश्वविद्यालय,भुवनेश्वर का मान बढाया है।स्नेहा सोरेन ने 69केजी तथा 92केजी तक वेटलिफ्टिंग क्लीयर कर जर्क इवेंट में भी टोटल 161 केजी तक क्लीयर किया था।

कितनी खतरनाक थी लेनिन की सोच

अब गरीबों की बात करने वाले कम्युनिस्टों के 3 पिताओं में से दूसरे पिता लेनिन की बात करते हैं। लेनिन की टूटी हुई मूर्ति पूर्वी जर्मनी में फोटोग्राफर मेत्स को घनी झाड़ियों के पीछे छुपा हुआ मिला.

विश्व पुस्तक दिवस पर आयोजित प्रतियोगिता के विजेताओं का सम्मान

विशिष्ठ अतिथि से. नि. उप मुख्य अभियंता रा.रा. वि. उ. नि. बिगुल जैन, बापूनगर कच्ची बस्ती स्कूल के अध्यापक दशरथ सिंह, अविभावक नरेंद्र, विजेयता रोहित मीणा एवं भावना महवर ने भी अपने विचार रखे।

श्री संप्रदाय के प्रारंभिक दस प्रमुख आचार्य

दसवें क्रम में श्री गंगाधराचार्य जी का नाम आता है। गंगाधराचार्य जी श्री सम्प्रदाय के महान् गुरुभक्त संत हुए है श्री गंगाधराचार्य जी , जिनकी गुरु भक्ति के कारण इनका नाम गुरुदेव ने श्री पादपद्माचार्य रख दिया था ।
- Advertisment -
Google search engine

Most Read