Saturday, June 15, 2024
spot_img
Homeप्रेस विज्ञप्ति54वें इफ्फी में 25 फीचर फिल्में और 20 गैर-फीचर फिल्में प्रदर्शित की...

54वें इफ्फी में 25 फीचर फिल्में और 20 गैर-फीचर फिल्में प्रदर्शित की जाएंगी

‘अट्टम, (मलयालम)’ भारतीय पैनोरमा 2023 की उद्घाटन फीचर फिल्म होगी

‘एंड्रो ड्रीम्स (मणिपुरी)’ भारतीय पैनोरमा 2023 की उद्घाटन गैर-फीचर फिल्म होगी

भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (इफ्फी) के प्रमुख घटक भारतीय पैनोरमा ने 25 फीचर फिल्मों और 20 गैर-फीचर फिल्मों के चयन की घोषणा की है। चयनित फिल्मों को 20 से 28 नवंबर 2023 तक गोवा में आयोजित होने वाले 54वें इफ्फी में प्रदर्शित किया जाएगा।

राष्ट्रीय फिल्म विकास निगम, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा आयोजित भारतीय पैनोरमा का उद्देश्य भारतीय पैनोरमा के उक्त नियमों की शर्तों और प्रक्रियाओं के अनुसार सिनेमाई, विषयगत और सौंदर्य बोध संबंधी उत्कृष्टता वाली फीचर और गैर-फीचर फिल्मों का चयन करना है।

भारतीय पैनोरमा का चयन भारत भर के सिनेमा जगत की प्रतिष्ठित हस्तियों द्वारा किया जाता है, जिसमें फीचर फिल्मों के लिए कुल बारह जूरी सदस्य और गैर-फीचर फिल्मों के लिए में छह जूरी सदस्य शामिल होते हैं। दोनों तरह की जूरी का नेतृत्‍व उनके संबंधित अध्‍यक्षों द्वारा किया जाता है। अपनी व्यक्तिगत विशेषज्ञता का प्रयोग करते हुए प्रतिष्ठित जूरी पैनल सर्वसम्मति में समान रूप से योगदान देते हैं जिससे संबंधित श्रेणियों की भारतीय पैनोरमा फिल्मों का चयन होता है।

बारह सदस्यों वाली फीचर फिल्म जूरी का नेतृत्व विख्‍यात फिल्म निर्देशक, अभिनेता और निर्माता कर रहे थे; अध्यक्ष डॉ. टी. एस. नागभरण ने किया। फ़ीचर फिल्‍म की जूरी में निम्नलिखित सदस्य शामिल रहे, जो व्यक्तिगत रूप से विभिन्न सराहनीय फिल्मों और फिल्म से संबंधित व्यवसायों का प्रतिनिधित्व करते हैं, जबकि सामूहिक रूप से वैविध्‍यपूर्ण भारतीय बिरादरी का प्रतिनिधित्व करते हैं:

1. श्री. ए. कार्तिक राजा; छायाकार
2. श्री. अंजन बोस; फिल्म निर्देशक और निर्माता
3. श्रीमती. डॉ. इतिरानी सामंता; फ़िल्म निर्माता और पत्रकार
4. श्री. के.पी व्यासन; फ़िल्म निर्माता, निर्देशक और पटकथा लेखक
5. श्री. कमलेश मिश्रा; फ़िल्म निर्देशक और पटकथा लेखक
6. श्री. किरण गंती; फ़िल्म संपादक एवं निर्देशक
7. श्री. मिलिंद लेले; फिल्म निर्देशक और निर्माता
8. श्री. प्रदीप कुरबा; फ़िल्म निर्देशक
9. सुश्री रमा विज; अभिनेता
10. श्री. रोमी मैतेई; फ़िल्म निर्देशक
11. श्री. संजय जाधव; फ़िल्म निर्देशक एवं छायाकार
12. श्री. विजय पांडे; फ़िल्म निर्देशक एवं संपादक

408 समकालीन भारतीय फीचर फिल्मों के व्यापक स्पेक्ट्रम में से 25 फीचर फिल्मों के एक पैकेज को 54वें इफ्फी में भारतीय पैनोरमा खंड में प्रदर्शित करने के लिए चुना गया है। फीचर फिल्मों का निम्नलिखित पैकेज भारतीय फिल्म उद्योग की जीवंतता और विविधता को दर्शाता है।

भारतीय पैनोरमा 2023 की उद्घाटन फीचर फिल्म के लिए फीचर फिल्म जूरी की पसंद श्री आनंद एकार्शी द्वारा निर्देशित फिल्म अट्टम, (मलयालम) है।

फीचर सेक्शन में अन्य फिल्में हैं ‘आरारिरारो’, ‘अट्टम’, ‘अर्धांगिनी’, ‘डीप फ्रिज’, ‘ढाई आखर’, ‘इरात्ता’, ‘काधल एनबाथु पोथु उदामई’, ‘काथल’, ‘मलिकाप्पुरम’, ‘मंडली’ ‘, ‘मिरबीन’, नीला नीरा सोरियान’, ‘ना थान केस कोडु’, ‘पुक्कलम’, ‘रवींद्र काब्या रहस्य’, ‘सना’, ‘द वैक्सीन वॉर’ और ‘वध’।

फीचर फिल्मों में मुख्यधारा सिनेमा अनुभाग में शामिल हैं – ‘2018 – एवरीवन इज ए हीरो’, ‘गुलमोहर’, ‘पोन्नियिन सेलवन पार्ट – 2’, ‘सिर्फ एक बंदा काफी है’ और ‘द केरला स्टोरी’।

‘अट्टम, (मलयालम)’ भारतीय पैनोरमा 2023 की शुरुआती फीचर फिल्म होगी।

छह सदस्यों वाली गैर-फीचर फिल्म जूरी का नेतृत्व विख्‍यात वृत्तचित्र फिल्म निर्देशक श्री अरविन्द सिन्हा ने किया। गैर-फीचर जूरी में निम्नलिखित सदस्य शामिल रहे जो व्यक्तिगत रूप से विभिन्न सराहनीय फिल्मों और फिल्म से संबंधित व्यवसायों का प्रतिनिधित्व करते हैं, जबकि सामूहिक रूप से वैविध्‍यपूर्ण भारतीय बिरादरी का प्रतिनिधित्व करते हैं।

1. श्री. अरविंद पांडे; फ़िल्म निर्देशक और लेखक
2. श्री. बॉबी वाहेंगबाम; फिल्म निर्देशक और निर्माता
3. श्री. दीप भुइयां; फ़िल्म निर्देशक
4. श्री. कमलेश उदासी; फिल्म निर्देशक और निर्माता
5. सुश्री पौशाली गांगुली; एनिमेटर, फ़िल्म निर्देशक और पटकथा लेखक
6. श्री. वरुण कुर्तकोटि; फ़िल्म निर्देशक

गैर-फीचर फिल्मों में ‘1947: ब्रेक्सिट इंडिया’, ‘एंड्रो ड्रीम्स’, ‘बासन’, ‘बैक टू द फ्यूचर’, ‘बरुआर ज़ोंगक्सर’, ‘बेहरूपिया – द इम्पर्सनेटर’, ‘भांगर नानसेई नीलम’ (चेंजिंग लैंडस्केप) शामिल हैं। , ‘छुपी रोह’, ‘गिद्ध’ (द स्केवेंजर), ‘कथबोर’, ‘लाचित’ (द वॉरियर), ‘लास्ट मीट’, ‘लाइफ इन लूम’, ‘मऊ: द स्पिरिट ड्रीम्स ऑफ चेरॉ’, ‘प्रदक्षिणा’ , ‘सदाबहार’, ‘श्री रुद्रम’, ‘द सी एंड सेवन विलेजेज’, और ‘उत्सवमूर्ति’।

‘एंड्रो ड्रीम्स’ (मणिपुरी) भारतीय पैनोरमा 2023 की शुरुआती गैर-फीचर फिल्म होगी।

239 समकालीन भारतीय गैर-फीचर फिल्मों के व्यापक स्पेक्ट्रम में से 20 गैर-फीचर फिल्मों के एक पैकेज को 54वें इफ्फी में भारतीय पैनोरमा खंड में प्रदर्शित करने के लिए चुना गया है। गैर-फीचर फिल्मों का पैकेज उभरते और स्थापित फिल्म निर्माताओं की डॉक्‍यूमेंट करने, पड़ताल करने, मनोरंजन करने और समकालीन भारतीय मूल्यों को प्रतिबिंबित करने की क्षमता की मिसाल प्रस्‍तुत करता है।

भारतीय पैनोरमा 2023 की उद्घाटन गैर-फीचर फिल्म के लिए गैर-फीचर फिल्म जूरी की पसंद सुश्री लोंगजम मीना देवी द्वारा निर्देशित ‘एंड्रो ड्रीम्स (मणिपुरी) है।

भारत की समृद्ध संस्कृति और विरासत के साथ-साथ भारतीय फिल्मों को बढ़ावा देने के लिए सिनेमाई कला की मदद से इफ्फी के अंतर्गत 1978 में भारतीय पैनोरमा की शुरुआत की गई थी। अपनी स्थापना के बाद से भारतीय पैनोरमा वर्ष की सर्वश्रेष्ठ भारतीय फिल्मों को प्रदर्शित करने के लिए पूरी तरह समर्पित रहा है। फिल्म कला को बढ़ावा देने के उद्देश्य से भारतीय पैनोरमा खंड के लिए चयनित फिल्मों को भारत और विदेशों में अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोहों, द्विपक्षीय सांस्कृतिक आदान-प्रदान कार्यक्रमों सांस्कृतिक आदान-प्रदान प्रोटोकॉल के बाहर विशिष्ट भारतीय फिल्‍म महोत्‍सवों और भारतीय पैनोरमा फिल्म महोत्‍सवों के तहत आयोजित भारतीय फिल्म सप्ताहों में अलाभकारी स्क्रीनिंग के लिए भी प्रदर्शित किया जाएगा।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार