आप यहाँ है :

पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक द्वारा मिशन अमानत वेबपेज और ई-मेरी सहेली परियोजना का उद्घाटन

पश्चिम रेलवे दर्शन के सिद्धांतों में वर्णित सिद्धांतों को अमल में लाते हुए आगे बढ़ रही है, जो हमारे कार्यों के साथ-साथ हमारे विचारों की प्रेरक शक्ति के लिए निरंतर प्रेरणा है। इसी दिशा में सामाजिक समरसता (सामाजिक विकास) के दर्शन को व्यवहार में लाते हुए पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक श्री आलोक कंसल ने दो प्रमुख यात्री अनुकूल पहलों का उद्घाटन किया, जिसमें मिशन अमानत के उन्नत वेबपेज के साथ-साथ अपग्रेडेड ई-मेरी सहेली परियोजना वेब पोर्टल शामिल हैं। इस कार्यक्रम में सुरक्षा विभाग के प्रमुख विभागाध्यक्ष और अन्य वरिष्ठ रेलवे अधिकारी उपस्थित थे।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी श्री सुमित ठाकुर द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार डिजिटल इंडिया पहल को बढ़ावा देने के लिए पश्चिम रेलवे ने मिशन अमानत के उन्नत सिंगल विंडो वेबपेज और अपग्रेडेड ई-मेरी सहेली वेब लॉन्च किया है। मिशन अमानत पहल के तहत फोटो के साथ यात्रियों के खोए हुए सामान का विवरण पश्चिम रेलवे की आधिकारिक वेबसाइट wr.indianrailways.gov.in पर “मिशन अमानत” लिंक के तहत पोस्ट किया जाता है। यात्री रेलवे परिसर में या ट्रेन में खोए हुए सामान के बारे में एक सिंगल विंडो के माध्यम से जान सकते हैं कि उनका खोया हुआ सामान पश्चिम रेलवे के छह मंडलों में से किसी एक स्टेशन पर लॉस्ट प्रॉपर्टी कार्यालय केंद्रों पर उपलब्ध है कि नहीं। इससे यात्रियों को अपना लापता सामान खोजने और वापस पाने में सुविधा होगी। इसी तरह, मेरी सहेली वेब पोर्टल मेरी सहेली परियोजना का उन्नत स्वरूप है। इस परियोजना का मुख्य उद्देश्य आरपीएफ अधिकारियों की उपलब्धता सुनिश्चित करना है और इस प्रकार ट्रेनों में अकेले यात्रा करने वाली सभी महिला यात्रियों की सुरक्षा के लिए व्यवस्थित कवरेज प्रदान करना है। नया वेब पोर्टल प्रभावी रूप से मेरी सहेली परियोजना के पर्यवेक्षण या निगरानी में सहायता करेगा। मेरी सहेली परियोजना की मुख्य विशेषताएं हैं:-

▪ वेब पोर्टल – सभी मंडल नियंत्रण कक्षों और पोस्टों के लिए लॉग इन/पासवर्ड आधारित सुरक्षित पहुंच।

▪ PRABAL और PRIMES से यात्री आरक्षण डेटा आयात करने की सुविधा।

▪ डेटा एनालिटिक्स का उपयोग करके अकेले यात्रा करने वाली महिला यात्रियों की ऑटोमेटेड पहचान।

▪ ट्रेन एस्कॉर्ट पार्टियों और आरपीएफ कर्मचारियों के लिए चार्ट का ऑटोमेटेड निर्माण।

▪ ट्रेनों में अकेले यात्रा करने वाली महिला यात्रियों का स्टेशनवार और कोचवार चार्ट।

▪ ट्रेन में महिला यात्रियों की सुरक्षा के लिए अधिकारियों/कर्मचारियों का स्वत: आवंटन।

▪ 2-टियर मॉनिटरिंग – डिवीजन और पोस्ट श्रेणीबद्ध नियंत्रण और पर्यवेक्षण सुनिश्चित करेंगे ।

▪ डेटा सुरक्षा के लिए अधिकार क्षेत्र के आधार पर सूचना की पहुंच ।

▪ पश्चिम रेलवे के सभी मंडलों के लिए गतिशील डेटा प्रबंधन।

▪ आरपीएफ ट्रेन एस्कॉर्टिंग स्टाफ और मेरी सहेली परियोजना के कार्य निष्पादन की निगरानी और विश्लेषण के लिए डेटा विश्लेषण।

▪ कार्य निष्पादन विश्लेषण के लिए कर्मचारियों और पर्यवेक्षी अधिकारियों को इतिहास डेटा।

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top