Wednesday, May 22, 2024
spot_img
Homeप्रेस विज्ञप्तिराजस्थानी साहित्य पुरस्कार 2017 के लिए प्रविष्टियाँ आमंत्रित

राजस्थानी साहित्य पुरस्कार 2017 के लिए प्रविष्टियाँ आमंत्रित

कमला गोइन्का फाउंडेशन के प्रबंध न्यासी श्री श्यामसुन्दर गोइन्का ने बताया कि फाउंडेशन मातुश्री कमलादेवी गोइन्का कि स्मृति में संस्थापित राजस्थानी साहित्य पुरस्कार ‘मातुश्री कमला गोइन्का राजस्थानी साहित्य पुरस्कार’ द्विवर्षीय कालावधि में वर्ष 1999 से प्रदान करते आ रहा है. यह पुरस्कार विगत दस से अधिक वर्षों में लिखित व प्रकाशित राजस्थान भाषा की पुस्तकों व साहित्यकारों के राजस्थानी साहित्य में समग्र योगदान के आधार पर दिया जाता है. इस पुरस्कार की राशि रु. 1,11,111/- है.

इसी श्रृंखला में महिला साहित्यकारों के राजस्थानी साहित्य में योगदान को सम्मानित करने के लिए फाउंडेशन वर्ष 2015 से ‘रानी लक्ष्मीकुमारी चूण्डावत महिला साहित्यकार पुरस्कार’ प्रदान करते आ रहा है. यह पुरस्कार महिला साहित्यकारों द्वारा लिखित व प्रकाशित राजस्थानी भाषा की पुस्तकों व उनके राजस्थानी साहित्य में समग्र योगदान के आधार पर दिया जाता है. इस पुरस्कार की राशि रु.31000/- है.

सन 2017 के लिए राजस्थानी में प्रकाशित कृतियाँ प्रविष्टि स्वरुप इन दोनों पुरस्कार योजनाओं के अंतर्गत आमंत्रित है.

साथ ही राजस्थानी साहित्य की समृद्धि के लिए युवा नवोदित साहित्यकारों को प्रोत्साहित करने के लिए ‘किशोर कल्पनाकांत युवा साहित्यकार पुरस्कार’ की वर्ष 2007 से शुरुआत हुई है. इसके अंतर्गत 35 वर्ष की आयु तक के युवा लेखकों को, जिनकी कोई पुस्तक प्रकाशित नहीं हुई है, पाण्डुलिपि के प्रकाशनार्थ सहयोग व नगद पुरस्कार दिया जाता है. युवा लेखकों की पांडुलिपियां इस पुरस्कार योजना के लिए भी आमंत्रित है.

नियमावली व प्रस्ताव पत्र के लिए तथा संस्था की अधिक जानकरी के लिए वेबसाइट www.kgfmumbai.com पर या ईमेल : [email protected] द्वारा या मुंबई कार्यालय में संपर्क करें. प्रविष्टियाँ कमला गोइन्का फाउंडेशन, 350, ए-१ बिल्डिंग, शाह एंड नाहर इंडस्ट्रीयल धनराज मिल्स कंपाउंड, लोअर परेल, मुंबई-400013 दूरभाष: 022-24936111/24939235 / मोबाइल : 09324279179 स्थित कार्यालय में 15 जून 2017 तक भेजने का आग्रह किया गया

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार