आप यहाँ है :

जोधपुर रीजन ने अटल पेंशन योजना सद्भाव सप्ताह में प्राप्त किया सर्वोच्च स्थान

राजस्थान के कुल 1019 में, अकेले जोधपुर रीजन ने 711 लोगों को जोड़ा अटल पेंशन योजना से

भारत सरकार द्वारा अटल पेंशन योजना से अधिकाधिक लोगों को जोड़ने हेतु 25 से 29 जुलाई तक अटल पेंशन योजना सद्भाव सप्ताह का आयोजन किया गया। डाक विभाग ने इसके तहत तमाम कार्यक्रम किये और अधिकाधिक लोगों को इससे जोड़ने का प्रयास किया। पूरे भारत में राजस्थान डाक परिमंडल ने इस दौरान डाकघरों में सर्वाधिक 1019 लोगों को अटल पेंशन योजना से जोड़ा, जिसमें अकेले जोधपुर रीजन का योगदान 711 है। इस सम्बन्ध में जानकारी देते हुए राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएं कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि जोधपुर रीजन में इस दौरान 711 लोगों को अटल पेंशन योजना से जोड़ा गया, जो कि राजस्थान में सर्वाधिक है। इसमें राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के बीकानेर (287), पाली (133) और सिरोही (85) मंडल सर्वोच्च तीन योगदानकर्ताओं में रहे, वहीं जोधपुर मंडल ने 52 लोगों को जोड़कर छठा स्थान प्राप्त किया।

निदेशक डाक सेवाएं कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि अटल पेंशन योजना भारत सरकार द्वारा समर्थित पेंशन योजना है, जिसका लक्ष्य असंगठित क्षेत्र के लोगों को पेंशन की सुविधा प्रदान करना है।

इससे जुड़ने के लिए न्यूनतम उम्र 18 साल तथा अधिकतम उम्र 40 साल है। इसके तहत अंशधारकों को 60 साल पूरा होने पर 1,000 रुपये से लेकर 5,000 रुपये तक पेंशन मिलेगी जो उनके योगदान पर निर्भर करेगा।

गौरतलब है कि पूरे भारत में राजस्थान डाक परिमंडल ने अटल पेंशन योजना सद्भाव सप्ताह के दौरान सर्वाधिक 1019 लोगों को अटल पेंशन योजना से जोड़ा, जबकि दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे तमिलनाडु और महाराष्ट्र परिमण्डल ने क्रमशः 722 और 699 लोगों को जोड़ा। राजस्थान में अकेले पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर रीजन का योगदान 711 है, जबकि जयपुर और अजमेर ने इस दौरान क्रमशः 215 और 93 लोगों को इस योजना से जोड़ा।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top