Wednesday, May 29, 2024
spot_img
Homeमीडिया की दुनिया सेमौलाना की लाल बत्ती भी गई और शाही इमामी भी

मौलाना की लाल बत्ती भी गई और शाही इमामी भी

अपनी कार से लाल बत्ती हटाने से इंकार करने वाले मौलाना बरकती को टीपू सुल्तान मस्जिद के शाही इमाम के पद से हटा दिया गया है। मस्जिद के बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज ने ये फैसला किया है। अंग्रेजी वेबसाइट द हिन्दू ने खबर दी है कि देर रात कोलकाता के टीपू सुल्तान मस्जिद के बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज ने ये फैसला किया। बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज के प्रमुख शाहजादा अनवर अली ने कहा कि देश विरोधी टिप्पणी को देखते हुए बोर्ड ने उन्हें शाही इमाम के पद से हटाने का फैसला किया है। मस्जिद प्रबंधन का मानना है कि बरकती ने ऐसा बयान देकर मुसलमानों की भावना को ठोस पहुंचाया है। हालांकि इस मामले में मौलाना बरकती से अबतक कोई प्रतिक्रिया नहीं मिल सकती है।

इससे पहले बरकती को कोलकाता प्रशासन ने अपनी कार से लाल बत्ती हटाने को कहा था, लेकिन बरकती ने कहा था कि उसने अपनी इच्छा से लाल बत्ती हटाई है और उस पर किसी का कोई दबाव नहीं है। यहां के लोगों का कहना है कि बरकती द्वारा केन्द्र सरकार के आदेश को ना मानने की खुली चुनौती दे देने के बाद प्रशासन के सामने ये बड़ा प्रश्न था कि बिना कानून व्यवस्था का मसला पैदा किये मौलाना की कार से लाल बत्ती हटाई जा सके। बता दें कि मौलाना बरकती कई बार पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के साथ देखे गये थे, और उन्होंने ये भी कहा था कि ममता बनर्जी ने उनसे अपनी कार से लाल बत्ती नहीं हटाने को कहा है। बरकती के इस रवैये का कई मुस्लिम संगठनों ने भी विरोध किया था। शनिवार (13 मई) को कुछ मुस्लिम संगठनों ने बरकती के घर के बाहर प्रदर्शन भी किया था।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार