आप यहाँ है :

वाराणसी में चैती और ठुमरी गाएंगे गुलाम अली

पाकिस्तानी गजल गायक गुलाम अली 8 अप्रैल को उत्तर प्रदेश के वाराणसी में शुरू हो रहे वार्षिक संगीत महोत्सव में हिस्सा लेंगे। वह यहां स्थित मशहूर संकट मोचन मंदिर में अपनी प्रस्तुती देंगे। हालांकि, वह इस दौरान गजल नहीं गाएंगे, बल्कि शास्त्रीय "ठुमरी" और "चैती" गाएंगे।
 
अली ने खुद मंदिर के महंत से संपर्क कर समारोह में गाने की पेशकश की थी। अपने इस कार्य के लिए वह कोई शुल्क नहीं लेंगे। मंदिर प्रशासन ने वाराणसी से सांसद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी न्योता दिया है।
 
मंदिर के महंत और बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में आईआईटी के प्रोफेसर विश्वमबर नाथ मिश्रा ने कहा कि यह पहला मौका होगा जब कोई पाकिस्तानी गायक संकट मोचन मंदिन में प्रस्तुती देगा। उन्होंने बताया कि संगीत समारोह 4 अप्रेल से शुरू हो रहे मंदिर के वार्षिक समारोह का आखिरी कार्यक्रम होगा।
इस कार्यक्रम में पंडित बिरजू महाराज, हरिप्रसाद चौरासिया, सोनल मानसिंह, हशमत अली खान, उस्ताद अमजद अली खान, उनके दोनों बेटों अमान, अयान सहित कुल 50 लोग अपनी प्रस्तुति देंगे।

.

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top