ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

 

  • जालोर जिले में डाक विभाग के पहले एटीएम का निदेशक डाक सेवाएं कृष्ण कुमार यादव ने किया प्रधान डाकघर में उद्घाटन

    जालोर जिले में डाक विभाग के पहले एटीएम का निदेशक डाक सेवाएं कृष्ण कुमार यादव ने किया प्रधान डाकघर में उद्घाटन

    डाकघर से जुड़े उपभोक्ताओं के लिए जालोर में बहुप्रतीक्षित एटीएम सेवा सोमवार से शुरू हो गई। जालोर प्रधान डाकघर प्रांगण में लगे एटीएम का उद्घाटन राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने 28 दिसम्बर को शिलापट्ट का अनावरण कर एवं फीता काट कर किया।

  • ये है प्रभुजी की ट्विटर दुनिया

    ये है प्रभुजी की ट्विटर दुनिया

    ट्विटर के जरिए रेल यात्रियों की मदद की खबरें सुर्खियां बन रही हैं। चलती ट्रेन में बीमार बुजुर्ग के लिए इलाज का इंतजाम करना तो चाहे बच्चे को दूध पहुंचाने का मामला हो, बस एक ट्वीट पर मदद पहुंच जाती है। हम आपको बताने जा रहे हैं कि यह सब कैसे होता है।

  • बच्चों को लेकर करिश्मा कपूर के खिलाफ अदालत पहुँचे उनके पति

    बच्चों को लेकर करिश्मा कपूर के खिलाफ अदालत पहुँचे उनके पति

    फिल्म अभिनेत्री करिश्मा कपूर के पति संजय कपूर ने परिवार अदालत में अर्जी दायर कर अपने दोनों बच्चों की कस्टडी (सौंपने) की मांग की है। दोनों बच्चे अभी अपनी मां के साथ रहते हैं। संजय के वकील ने 15 दिनों पूर्व अर्जी दायर की थी। दोनों की शादी 2003 में हुई थी।

  • जिस अदालत परिसर में पिता चाय बेचते थे बेटी वहीं न्यायाधीश बनकर आई

    जिस अदालत परिसर में पिता चाय बेचते थे बेटी वहीं न्यायाधीश बनकर आई

    जालंधर के नाकोदर जिला अदालत में चाय की दुकान चलाने वाले सुरेंद्र कुमार ने कभी सोचा भी नहीं था कि जिंदगी भर जिस जगह उन्होंने लोगों को चाय पिलाई उसी जगह एक दिन उनकी बेटी जज बनकर लोगों की फरीयादें सुनेगी।

  • सारी दुनिया को अपनाओ : शब्द कुछ कहते हैं

    सारी दुनिया को अपनाओ : शब्द कुछ कहते हैं

    अजय कुमार मिश्र ‘अजयश्री’ का काव्य संग्रह “शब्द कुछ कहते हैं” प्राप्त हुआ तो मैंने अपने दोस्तों से इस पुस्तक के बहाने चर्चा करी कि इस पुस्तिका ने शब्दों के इतिहास, उदभव और उसकी विकास यात्रा तक हमें चेतनशील किया है. किसी भी कविता में शब्द चयन रचनाकार के इतिहास बोध से जुड़ा होता है और पाठक को भी उसी इतिहास चेतना तक पहुंचना पड़ता है. तब जाकर कविताओं के मर्म तक पहुंचा जा सकता है.

  • भारतीय मुसलमान कितने राष्ट्रवादी?

    भारतीय मुसलमान कितने राष्ट्रवादी?

    भारतवर्ष में 2011 की जनगणना के आंकड़ों के अनुसार जहां इस देश में हिंदू धर्मावलंबियों की संख्या 79.8 प्रतिशत है वहीं इस देश में रहने वाले मुसलमानों की जनसंख्या 14.2 प्रतिशत है। गोया भारत में अल्पसंख्यक समुदाय समझे जाने वाले धर्मों में मुस्लिम अल्पसंख्यक समाज की तादाद सबसे अधिक है। यही वजह है कि देश में विभिन्न राष्ट्रीय व क्षेत्रीय राजनैतिक दल भारतीय मुसलमानों को अपनी ओर आकर्षित करने हेतु तरह-तरह के राजनैतिक प्रयास करते रहते हैं।

Back to Top