आप यहाँ है :

अमरीकी नाईट क्लब ने माफी मांगी

25 जून 2020

मुंबई।

लास वेगस के सभी धर्मों के गुरुओं के संयुक्त वक्तव्य में कसीनो व नाइट क्लब में जैन व हिन्दू प्रतिमाओं को सजावट की वस्तु बनाकर रखने को “अत्यधिक अनुचित” व अपमानजनक कहा गया था जिससे हिन्दुओं व जैनों की धामिक भावनाएँ आहत हुई थीं। बुधवार को होटल प्रबंधन ने एक बयान जारी करके कहा है कि क्लब से जैन धर्म के तीर्थंकर भगवान महावीर की प्रतिमा को हटाया जाएगा।

मंगलवार को एक बयान में, ईसाई, हिंदू, बौद्ध, यहूदी और जैन धर्मगुरुओं ने नाइट क्लब से विभिन्न हिंदू और जैन देवताओं की मूर्तियों को हटाने के लिए फाउंडेशन रूम को आग्रह किया था।

बुधवार को, फाउंडेशन रूम प्रबंधन ने सार्वजनिक रूप से क्षमा माँगते हुए एक बयान जारी किया है*, जो ट्विटर, इंस्टा आदि सामाजिक माध्यमों पर भी पोस्ट किया गया है-

“फाउंडेशन रूम दो दशकों से प्रेम, शांति, सच्चाई, धार्मिकता और अहिंसा के माध्यम से नस्लीय और धार्मिक सद्भाव को बढ़ावा देने की परंपरा पर कार्यरत है और अब यह हमारे लिए पहले से कहीं अधिक महत्वपूर्ण है। हम उन सभी लोगों से माफी माँगते हैं, जिनको हमारे क्लब की हाल की तस्वीरों से ठेस पहुँची है और हम सुनिश्चित करेंगे कि इस तरह के असंवेदनशील प्रदर्शन फिर से न हों। विशेष रूप से, हम अपने परिसर से महावीर प्रतिमा को हटा रहे हैं। हम हमेशा आपसी संवाद को बढ़ावा देने के लिए प्रयास करते हैं और इसके लिए प्रतिबद्ध हैं।”

भारत की ओर से मांडले वे के कंपनी प्रबंधन को दिगंबर जैनों की सबसे पुरातन सक्रिय संस्था भारतीयवर्षीय दिगंबर जैन तीर्थक्षेत्र कमेटी, मुंबई के अध्यक्ष श्री प्रभात जैन और कार्यकारी अध्यक्ष श्री राजेंद्र के. गोधा ने सोमवार, 22 जून 2020 को पत्र लिखकर फाउंडेशन रूम्स क्लब से सभी जैन व हिन्दू प्रतिमाओं को हटाने व सार्वजनिक क्षमा माँगने का आग्रह किया था। तीर्थक्षेत्र कमेटी की ओर से अंतरराष्ट्रीय मामलों के जानकार वरिष्ठ अधिवक्ता श्री प्रदीप जैन के माध्यम से विदेश मंत्रालय, भारत में अमरीका के राजदूत को हस्तक्षेप करने के लिए लिखा गया था और साथ ही उन्होंने इंस्टा व फेसबुक को कानूनी नोटिस भी भेजा गया था कि फाउंडेशन रूम के आधिकारिक पेज से आपत्तिजनक तस्वीरों को हटाए।

इस कार्य में लास वेगस निवासी जैन विद्वान श्री सुलेख सी. जैन ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। तीर्थक्षेत्र कमेटी के अध्यक्ष श्री प्रभात जैन और कार्यकारी अध्यक्ष श्री राजेंद्र के. गोधा ने श्री सुलेख सी. जैन, दिल्ली के श्री एनसी जैन, दिल्ली सरकार के वरिष्ठ अधिकारी श्री जेके जैन व अन्यान्य उन सभी लोगों के प्रति आभार व्यक्त किया है, जिनकी सक्रियता के कारण होटल ने माँफी माँगी है और तीर्थंकर भगवान की प्रतिमा को क्लब से हटाने के लिए सहमति व्यक्त की है।

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top