आप यहाँ है :

कजरी महोत्सव में पहुँची राजश्री बिरला

मुंबई। सुप्रसिद्ध उद्योग घराने बिरला समूह की अगुआ पद्मश्री राजश्री बिरला ने कजरी महोत्सव में पहुंचकर एक ओर सादगी व विनम्रता का परिचय दिया तो दूसरी ओर महोत्सव में बड़ी संख्या में जुटी महिलाओं को प्रेरणा भी दी। उन्होंने अभियान द्वारा लोकसंगीत को बचाने और लोकजीवन से शहरी लोगों को रूबरू कराने के प्रयास की जमकर प्रशंसा की।उन्होंने संगीत को ईश्वर का दिया हुआ सर्वोत्तम उपहार बताते हुए कहा कि इससे प्रकृति से लेकर जड़ -चेतन तक सबको वश में कर लेने की शक्ति होती है।

कजरी महोत्सव के चौथे दिन दादर स्थित सावरकर हॉल में अभियान के इस आयोजन में सुप्रसिद्ध उद्योग घराने की अगुआ पद्मश्री राजश्री बिरला को “स्त्री शक्ति सम्मान” से सम्मानित किया गया। “बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ” का सन्देश देने के साथ ही अभियान द्वारा प्रति दिन विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय योगदान करनेवाली महिलाओं को सम्मानित भी किया जा रहा है।महाराष्ट्र राज्य हिंदी अकादमी के कार्याध्यक्ष नंदलाल पाठक व मुम्बई भाजपा के महामन्त्री और कजरी महोत्सव के संयोजक अमरजीत मिश्र ने “स्त्री शक्ति सम्मान” का खूबसूरत स्मृति चिन्ह और पुष्पगुच्छ देकर राजश्री बिरला का सम्मान किया।

श्री पाठक ने कहा कि महात्मा गांधी बड़ी सभाओं के साथ साथ सर्व सामान्य लोगों के बीच ज्यादा जाते थे,वैसे ही गांधीजी के जीवन से प्रभावित राजश्री बिरला भी उनका अनुसरण करती हैं। उन्होंने कहा कि बदलते परिवेश में शहर के लोगों के लिए कजरी महोत्सव का आयोजन कर अभियान लोकगीतों की फ्री होम डिलिवरी कर रहा है।

इस अवसर पर अभिनेत्री अवनि मोदी, पत्रकार लता मिश्रा और अभिनेत्री पाखी हेगड़े को भी उनकी विशिष्ट उपलब्धियों की वजह से सम्मानित किया गया।समारोह में बीजेपी के जिलाध्यक्ष अनिल ठाकुर,मिहिर कोटेचा,नगरसेवक महादेव शिवगण,मुम्बई विश्वविद्यालय के पूर्व विभागाध्यक्ष डॉ करुणाशंकर उपाध्याय, रुइया कॉलेज की पूर्व प्राचार्या डॉ सुमन जैन,समाजसेवी अनिल जैन, ओमप्रकाश चौहान , बीजेपी नेता धरम शर्मा समेत अनेकों गणमान्य लोग उपस्थित थे।बीजेपी मध्य दक्षिण जिला के महामंत्री आदित्य दुबे के नेतृत्व में हुए इस आयोजन में महिलाओं के लिए मेहंदी लगाने और झूला झूलने की भी व्यवस्था थी।

मिर्जापुर की गायिका मधु पांडेय और लोकगायक सुरेश शुक्ल ने भी कजरी के इंद्रधनुषी रंग बिखेरे।लोकगायकी का ही कमाल था कि महिलाएं सीधे मंच पर जाती थी और गायक -गायिका को उनकी गायकी के लिए इनाम देकर ख़ुशी ख़ुशी लौटती थी।मधु ने विरहिन पत्नी की वेदना का जिक्र करती कजरी भी सुनाई -बरसन लागि सवन बुनिया,तोरे बिना लागे ना मोरा जिया।

कजरी महोत्सव का अगला आयोजन:

गुरुवार को शाम 6.30 बजे मालाड पूर्व के जितेंद्र रोड स्थित पारेख हॉल में आयोजित कजरी महोत्सव की शानदार तैयारी की गयी है ।नगरसेवक विनोद शेलार के नेतृत्व में हो रहे इस आयोजन के लिए स्थानीय महिलाओं में जबर्दस्त उत्साह है।

चित्र परिचय

सुप्रसिद्ध उद्योग घराने बिरला समूह की अगुआ पद्मश्री राजश्री बिरला को स्त्री शक्ति सम्मान से सम्मानित करते हुए महाराष्ट्र हिंदी साहित्य अकादमी के कार्याध्यक्ष नन्दलाल पाठक, साथ में मुम्बई बीजेपी के महामंत्री व आयोजक अमरजीत मिश्र और गायक सुरेश शुक्ल।



सम्बंधित लेख
 

ईमेल सबस्क्रिप्शन

PHOTOS

VIDEOS

Back to Top