आप यहाँ है :

पश्चिम रेलवे महिला कल्याण संगठन की अध्यक्षा ने रेलकर्मियों एवं महिला यात्रियों से मुलाकात की

पश्चिम रेलवे महिला कल्याण संगठन की अध्यक्षा श्रीमती अर्चना गुप्ता ने संगठन की अन्य सदस्याओं के साथ बुधवार, 23 मई, 2018 को पश्चिम रेलवे के चर्चगेट स्थित प्रधान कार्यालय में कार्यरत महिला रेल कर्मचारियों से विभिन्न अहम मुद्दों पर चर्चा की। श्रीमती गुप्ता ने लोकल ट्रेन में चर्चगेट से भायंदर तक की यात्रा भी की तथा महिला यात्रियों से मुखातिब होकर उनकी रेल यात्रा के अनुभवों के बारे में फीडबैक भी प्राप्त किया।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी श्री रविंद्र भाकर द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार लोकल ट्रेन में महिला यात्रियों के यात्रा अनुभवों को जानने हेतु श्रीमती अर्चना गुप्ता कुछ महिला यात्रियों से मुखातिब हुईं। महिला यात्रियों ने इसे काफी सकारात्मक रूप में लिया तथा उनके यात्रा अनुभवों के फीडबैक लेने की प्रक्रिया पर अपनी खुशी भी जाहिर की। महिला यात्रियों ने श्रीमती गुप्ता के साथ विस्तार से चर्चा की तथा कुछ महिलाओं ने अपने महत्त्वपूर्ण सुझाव भी दिये। अधिकतर महिला यात्रियों ने यातायात के इस सर्वोत्तम माध्यम के प्रति अपनी संतोषप्रद प्रतिक्रिया जाहिर की एवं लोकल ट्रेनों को मुंबई की लाइफ लाइन कहे जाने को सही ठहराया। महिला यात्रियों ने पिछले दिनों शुरू की गई पूर्णतः वातानुकूलित लोकल ट्रेन के प्रति भी अपनी खुशी जताई। वे सभी सहमत थीं कि ऐसी ट्रेनों की आकर्षक विशेषताऍं उनकी यात्रा को वास्तव में बेमिसाल एवं आरामदायक बनाती हैं। प्रत्येक लोकल ट्रेन में कुछ वातानुकूलित डिब्बों की सुविधा की योजना एवं कुछ समय बाद इसकी शुरुआत होने की जानकारी पर उन्होंने कहा कि हमें खुशी है कि पश्चिम रेलवे सही दिशा में आगे बढ़ रही है। पश्चिम रेलवे महिला कल्याण संगठन की अन्य सदस्याओं के साथ श्रीमती अर्चना गुप्ता ने यात्रियों को बताया कि पश्चिम रेलवे सभी यात्रियों विशेषतः महिला यात्रियों की दैनिक यात्रा को और अधिक आरामदायक एवं सुरक्षित बनाने के लिए प्रतिबद्ध और निरंतर प्रयासरत है। श्रीमती गुप्ता ने महिला यात्रियों से अनुरोध किया कि वे उपलब्ध सुविधाओं के प्रति जागरूक रहें तथा आवश्यकता पड़ने पर सहायता हेतु किसी भी स्टेशन मास्टर से सम्पर्क करें। श्रीमती गुप्ता ने महिला यात्रियों को उनके मूलभूत यात्रा दायित्वों तथा जिम्मेदारियों के प्रति सतर्क रहने की भी सलाह दी तथा सहयात्रियों की ज़रूरतों को समझते हुए अनुशासित रहने की भी बात कही।

इससे पूर्व दिन की शुरुआत में श्रीमती गुप्ता ने पश्चिम रेलवे प्रधान कार्यालय के महिला कर्मचारियों से भी संवाद किया एवं उनके कार्यस्थल में बेहतरी एवं कार्यालय परिसर की स्वच्छता, वेंटिलेशन इत्यादि सम्बंधित मुद्दों पर उनसे चर्चा की। श्रीमती गुप्ता ने महिला कर्मचारियों को उनकी समस्याओं के आंशिक समाधान हेतु एक ग्रुप बनाने की भी बात कही।श्रीमती गुप्ता ने कहा कि विभिन्न स्तरों पर महिला कर्मचारियों की सक्रिय भागीदारी से वांछित दिशा एवं गति मिलेगी तथा इसके सफल परिणाम अवश्य प्राप्त होंगे।

उल्लेखनीय है कि श्रीमती अर्चना गुप्ता की विशेष पहल पर पश्चिम रेलवे महिला कल्याण संगठन द्वारा पश्चिम रेलवे के एक लाख से भी अधिक रेल कर्मचारियों और उनके परिवारों के लिए विभिन्न कल्याणकारी गतिविधियाँ आयोजित करने के साथ ही उन क्षेटत्रों में अत्यंत महत्त्वपूर्ण एवं बहुमूल्य सहायता उपलब्ध कराता है, जहाँ रेल प्रशासन की अपनी सीमाएँ होती हैं। संगठन समय-समय पर पर्यावरण रक्षा, गम्भीर बीमारियों से पीड़ित मरीजों की सहायता, मेधावी किंतु ज़रूरतमंद छात्रों को वित्तीय सहायता, स्वास्थ्य सम्बंधी जागरूकता अभियानों, कर्मचारियों और उनके बच्चों की प्रतिभा को प्रोत्साहित करने, छोटे बच्चों के लिए पालना घर चलाने आदि गतिविधियों के माध्यम से रेलकर्मियों और उनके परिवारजनों के जीवन को आत्मीयतापूर्वक छूता है। श्रीमती अर्चना गुप्ता की विशेष पहल पर संगठन महिला कल्याण सहित विभिन्न विषयों पर जागरूकता हेतु विशेष सक्रिय रहा है। श्रीमती गुप्ता के नेतृत्व में संगठन की एक और उपलब्धि रेलवे में कार्यरत हज़ारों महिला कर्मचारियों के लिए मुख्यालय तथा सभी छह मंडलों के कार्यालयों में सेनेटरी नैपकिन वेंडिंग मशीनों की स्थापना रही। संगठन द्वारा ‘घ’ समूह के कर्मचारियों की बेटियों को आत्मनिर्भर बनाने हेतु गांधीधाम की एक अग्रणी टेक्सटाइल फर्म के साथ समझौता कर सिलाई/कढ़ाई सिखाने हेतु व्यावसायिक प्रशिक्षण की व्यवस्था की गई। यह भी उल्लेखनीय है कि पश्चिम रेलवे महिला कल्याण संगठन की अध्यक्षा श्रीमती अर्चना गुप्ता को विशाल पश्चिम रेल परिवार के सदस्यों के कल्याण एवं सहायता के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने के लिए हाल ही में मुंबई में आयोजित आयकॉनिक इन्सपीरेशनल वुमन ऑफ नवभारत पुरस्कार समारोह में महाराष्ट्र की माननीया ग्रामीण विकास, महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती पंकजा मुंडे द्वारा ‘आयकॉनिक महिला’ पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

फोटो कैप्शनः- पश्चिम रेलवे महिला कल्याण संगठन की अध्यक्षा श्रीमती अर्चना गुप्ता संगठन की अन्य वरिष्ठ सदस्याओं के साथ पश्चिम रेलवे की महिला कर्मचारियों तथा महिला यात्रियों से रेल सम्बंधी विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करती हुईं।



सम्बंधित लेख
 

Back to Top