ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

चक्रवात ताउते रेलवे के जज्बे को न कर सका कम

मुंबई। चक्रवात ताउते भी पश्चिम रेलवे के ऑक्सीजन आपूर्ति के मिशन को प्रभावित नहीं कर सका और पश्चिम रेलवे ने गुजरात के चक्रवात प्रभावित क्षेत्रों हापा, मुंद्रा और वडोदरा में अपने टर्मिनलों से बिना किसी रूकावट के ऑक्सीजन (एलएमओ) की आपूर्ति के क्रम को पुरजोर जारी रखा है। पश्चिम रेलवे ने गुजरात से देश के विभिन्न हिस्सों में 16 मई को 214 टन और 17 मई, 2021 को 151 टन लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन का परिवहन किया। 25 अप्रैल 2021 से पश्चिम रेलवे ने ऑक्सीजन टैंकरों के जरिये लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति शुरू की और प्रतिदिन औसतन 134 टन ऑक्सीजन देश के विभिन्न राज्यों में पहुंचाई जा रही है।

पश्चिम रेलवे ने विभिन्न राज्यों को अभी तक ऑक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करते अपने टर्मिनलों से 3057 टन ऑक्सीजन का परिवहन किया है और चक्रवात से उत्पन्न परिस्थितियों के बावजूद लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन की लोडिंग और परिवहन की व्यवस्था सुनिश्चित करना जारी रखा है। मध्य रेल भी चक्रवात से उत्पन्न किसी भी स्थिति से निपटने और ऑक्सीजन एक्सप्रेस की आवाजाही को सामान्य बनाये रखने के लिए पूरी तरह से तैयार है। मध्य रेल ने 17 मई को 8 खाली ऑक्सीजन टैंकरों को ओडिशा में अंगुल से ऑक्सीजन भर कर वापस नागपुर लाने के लिए नागपुर से अंगुल भेजा। पश्चिम और मध्य रेल के महाप्रबंधक श्री आलोक कंसल ने एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाई और चक्रवात से उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए योजना बनाने और तैयारी रखने के निर्देश दिए । श्री कंसल चक्रवात के दौरान लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन के परिवहन की व्यक्तिगत रूप से निगरानी कर रहे हैं और उन्होंने गुजरात के मुख्य सचिव और वृहन मुंबई महानगर पालिका के म्युनिसिपल कमिश्नर से चक्रवात से निपटने में और इस प्रतिकूल स्थिति में भी ऑक्सीजन के परिवहन को जारी रखने में रेलवे द्वारा पूर्ण समर्थन देने के लिए संपर्क कर चर्चा की।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी श्री सुमित ठाकुर द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, पश्चिम रेलवे द्वारा 16 और 17 मई, 2021 को देश के विभिन्न हिस्सों में क्रमशः 214 टन और 151 टन लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन का परिवहन किया। 16 मई, 2021 को पश्चिम रेलवे ने गुजरात के हापा से तीन ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनें चलाईं। इनमें से दो दिल्ली कैंट के लिए जबकि एक अन्य ट्रेन को उत्तर प्रदेश के कंकपुरा तक परिचालित हुई। इन ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनों के लिए टैंकर मैसर्स रिलायंस इंडस्ट्रीज, जामनगर द्वारा उपलब्ध कराये गए। 17 मई, 2021 को पश्चिम रेलवे ने वडोदरा से दिल्ली कैंट के लिए एक ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन चलाई। इस हेतु टैंकरों की आपूर्ति मैसर्स आर्सेलर मित्तल निप्पॉन स्टील द्वारा की गई। इसी दिन हापा से दिल्ली कैंट के लिए एक और ऑक्सीजन एक्सप्रेस चलाई गई।

श्री ठाकुर ने आगे बताया कि पश्चिम रेलवे ने अभी तक आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश राज्यों में अपनी 34 ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनों के जरिये 3057 टन लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन का परिवहन किया है।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top