Thursday, April 25, 2024
spot_img
Homeपत्रिकाकला-संस्कृतिओपन माइक कार्यक्रम सफलता पूर्वक संपन्न

ओपन माइक कार्यक्रम सफलता पूर्वक संपन्न

मुंबई। मुंबई स्थित जन सेवा मंडल, जीएच मलकानी पुस्तकालय, जुहू में “द रूट्स” संस्था द्वारा ओपन माइक “कविता मंच” का 9वाँ सत्र सफलता पूर्वक सम्पन्न हुआ। इस कार्यक्रम में मुंबई के सुदूर क्षेत्रों से युवा कवि, शायर, लेखक, गीतकार, सम्मिलित हुए।

द रूट्स संस्था के नाम से हि उद्देश्य का परिचय हो जाता है की यह आयोजन हमारे जड़ों से जुड़ने की मुहिम है। भारतीय संस्कारों से ओत-प्रोत, वसुधैव कुटुंबकम् के आदर्श का प्रतिपादन करते “द रूट्स” के आयोजनों में साहित्य, कला, संगीत के माध्यम से भारतीय संस्कृति का सुंदर समावेश मिलता है।

‘द रूट्स ओपन माइक’, प्रत्येक महीने के तीसरे शनिवार को जुहू में आयोजित किया जाता है, इसमें नए व अनुभवी कवियों, शायरों और लेखकों को नि:शुल्क मंच दिया जाता है। फूहड़ ओपन माइक्स और अश्लील स्टैंडअप्स के इस दौर में ‘द रूट्स ओपन माइक’, माटी के मूल्यों, हमारे संस्कारों और भारतीयता की जड़ों से जुड़ी रचनाओं और कलाओं को प्रोत्साहन देते हैं तथा एक संस्कारित समाज और सुसंस्कृत राष्ट्र के निर्माण हेतु रचनाकारों का आह्वान करते हैं।

द रूट संस्था का ध्येय वाक्य : जुड़ें जड़ों से…
कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि हिंदी ओटीटी सिने अभिनेता एवं रंगमंच कलाकार अशोक पाठक, संगठन मंत्री उदय शेवडे, कार्यालय प्रमुख अजीत गौड़, संस्कार भारती कोंकण प्रांत, चित्रपट शाखा के सरंक्षक संजय वर्मा और ‘द रूट्स ओपन माइक’ के संथापक सदस्य अरुण शेखर द्वारा दीप प्रज्वलित कर के किया गया।

निर्मल हास्य, व्यंग्य और उम्दा शायरी के साथ कार्यक्रम का मनोरंजक संचालन कल्याणी एवं कवि, शायर निलेश नाग ने संयुक्त रूप से किया। कलाकार ग़ज़ल गायक सेल्विन फर्नांडिस ,राजस्थान के तुलसीराम, लखीमपुर उत्तरप्रदेश के आलोक शुक्ला बिहार से रंगमंच एवं सिने कलाकार कवि राहुल राजदेव, संस्कार भारती कोंकण शाखा की सदस्य, संस्कृत से पीएचडी सुचेता अश्विन सावंत ने ख़ास इस कार्यक्रम के लिए विट्ठल जी पर रचित, जातिवाद पर प्रहार करती कविता का पाठ किया।

आर्यांश अरोरा, शायर राना साहब विक्रांत तिवारी, सुशील सिंघानिया,अभिनेता, कलाकार अग्रज पांडे, कवि विनय कुमार मिश्र, आकाश शुक्ला, पॉडकास्टर संजू बैनर्जी, कवि गुल बेलानी कवि उदय दिवाकर पांडे,कवियत्री प्रज्ञा मिश्र पद्मजा, मंच पर पहली बार जुड़ीं, नवी मुंबई की रचनाकार नंदिता माजी शर्मा,आयुर्वेद और ज्योतिषशास्त्र से जुड़े डॉ. ध्रुवा ने अपनी वाणी से सभी को मंत्रमुग्ध किया।

कार्यकर्ताओं में तन्मय जहागीरदार, सुधीर सेठ, प्रफुल्ल, चेतन, धर्मेंद्र गौड़ (कैमरा सेवा), जगदीश निषाद, संरक्षक मंडल में अरुण शेखर, योगेश कुलकर्णी, श्री हरि कुलकर्णी, संजय गोडसे, उदय शेवड़े, श्रवण मिश्रा, संदीप पाटिल द्वारा यह कर्यक्रम सुचारु रूप से चल रहा है। जन सेवा मंडल द्वारा कार्यक्रम स्थल प्रदान किया गया। कार्यक्रम का समापन उदय शेवड़े द्वारा धन्यवाद ज्ञापन से किया गया।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार