आप यहाँ है :

मीटू का असरः कैलाश खेर का पत्ता कटा

Me Too अभियान का असर शख्सियतों पर दिखने लगा है. एमजे अकबर के बाद अब कैलाश खेर को इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है. दीवाली पर उदयपुर में होने वाले कार्यक्रम में पहले कैलाश खेर परफॉर्म करने वाले थे, लेकिन अब आयोजकों ने उन्हें कार्यक्रम से हटा दिया है. बता दें कि कैलाश खेर पर सबसे पहले गायिका सोना महापात्रा ने आरोप लगाए थे. इसके बाद दूसरी महिलाओं ने भी उन पर आरोप लगाए थे. हालांकि इसके बाद कैलाश खेर ने इस पर कोई सफाई नहीं दी है.

उदयपुर नगर निगम की ओर से कहा गया है कि दीवाली के मौके पर उन्होंने एक सांस्कृतिक कार्यक्रम के लिए पहले कैलाश खेर का नाम तय किया था. लेकिन इसी दौरान मी टू मामले में कैलाश खेर का नाम सामने आ गया. इसके बाद कल्चरल कमेटी ने निर्णय लिया कि उन्हें कार्यक्रम से हटा दिया जाए. अब कैलाश खेर की जगह कार्यक्रम में दर्शन रावल परफॉर्म करेंगे.

गायिका सोना महापात्रा ने कैलाश खेर पर शोषण के आरोप लगाए हैं. महापात्रा का कहना है कि खेर ने एक बार उनकी जांघ पर हाथ फेरा था. सोना ने सिंगर और म्यूजिशियन राम संपत से शादी की है. उन्होंने ने एक ट्वीट के जरिए बताया कि एक आधिकारिक मुलाकात के दौरान कैलाश ने उनके साथ यह दुर्व्यवहार किया था.

महापात्रा ने लिखा, “मैं एक कांसर्ट के मामले में कैलाश से पृथ्वी कैफे मिलने गई थी. इस कॉन्सर्ट में हम दोनों को प्रस्तुति देनी थी. बातचीत के दौरान कैलाश ने मेरी जांघ पर हाथ फेरते हुए कहा कि ‘तुम बहुत सुंदर हो’. ‘अच्छा है कि तुम्हें एक म्यूजिशियन (राम) मिला, न कि कोई एक्टर’. मैं तुरंत ही वहां से निकल गई.”

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top