आप यहाँ है :

मुक्तांगन – एक नशामुक्ति केंद्र की कहानी

बनियन ट्री द्वारा डा अनिल अवचट की प्रसिद्ध मराठी पुस्तक मुक्तांगन को हिंदी मे प्रकाशित किया जा रहा है। करीब २५-३० वर्ष पूर्व डा अनिल अवचट ने पुणे में मुक्तांगन के नाम से नशामुक्ति को लेकर एक अनूठे प्रयोग की शुरुआत की थी। यह कहानी इसी केंद्र – मुक्तांगन को लेकर है।
एक ऐसी पुस्तक जो उन सभी लोगो के लिए एक पथ प्रदर्शक हो सकती है जो किसी न किसी रूप से नशामुक्ति के कार्य से जुड़े है या अपने किसी करीबी की नशे की आदत से छुटकारा चाहते है।
पुस्तक का भाषांतर श्री अरविन्द गुप्ता ने किया है और उनके प्रयासों से ही हम यह पुस्तक ला पा रहे है।
पुस्तक करीब १९० पृष्ठों की है और मूल्य २५० है। पुस्तक १०-१२ सितम्बर तक प्रकाशित हो जाएगी और पुस्तक का प्रकाशन-पूर्व मूल्य इस प्रकार रहेगा।
एक या एक से अधिक पुस्तक – रु 100
पोस्टेज प्रति पुस्तक रु. 20 और अतिरिक्त पुस्तक के लिए 4 रुपये।
यह ऑफर ३० सितम्बर तक खुला है। आर्डर के लिए मेल करे.

बनियन ट्री
१- बी धेनु मार्किट, दूसरी मंजिल, इंदौर – ४५२ ००३
टेल. – 07312531488 and 9425904428
ईमेल – [email protected]
website – www.banyantreebookstore.weebly.com

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top