ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

छात्रों में पढ़ने की आदत बढ़ाने के लिए सीबीएसई की नई पहल

छात्र-छात्राओं की पढ़ाई के प्रति रुचि बढ़ाने के लिए सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) की ओर से रीडिंग चैलेंज प्रतियोगिता का आयोजन कराया जाएगा। इसका उद्देश्य छात्र-छात्राओं में पढ़ने की भावना को जाग्रत करना है। इसके लिए सीबीएसई की ओर से सभी संबद्ध स्कूलों को निर्देश जारी किए गए है।

यह प्रतियोगिता को दो चरणों में आयोजित कराई जाएगी। इसमें विजेता प्रतिभागियों को सीबीएसई की ओर से सर्टिफिकेट दिए जाएंगे। इसमें कक्षा 8वीं से 10वीं के विद्यार्थी भागीदारी कर सकेंगे। द्वितीय चरण में 6 सर्वश्रेष्ठ विद्यार्थियों का चयन किया जाएगा। इसके बाद 4 से 7 फरवरी तक पंजीकृत छात्रों के लिए बोर्ड द्वारा कंप्यूटर आधारित रीडिंग टेस्ट कराया जाएगा।

ऐसा होगा टेस्ट का पैटर्न

चैलेंज टेस्ट गति और सटीकता दोनों पर ध्यान केंद्रित रहेगा। वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न होंगे। छात्र प्रतिभागियों से अपेक्षा की जाती है कि वे जल्द से जल्द पेपर पूरा करें। जो छात्र समय की सबसे कम अवधि में पेपर का सही उत्तर देंगे, उनका चयन किया जाएगा।

सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन पर मिलेगा मेरिट सर्टिफिकेट
बोर्ड की ओर से होने वाले इस रीडिंग टेस्ट (प्रतियोगिता) में स्कूलों को पेपर भेजे जाएंगे। प्रतियोगिता में आठवीं, नौवीं व 10वीं के छात्र-छात्राएं शामिल होंगे। बेहतर प्रदर्शन करने वाले पहले 50 छात्र-छात्राओं को बोर्ड की ओर से मेरिट सर्टिफिकेट दिए जाएंगे। दूसरे चरण में हर स्कूल से उन छह छात्र-छात्राओं को चुना जाएगा जिन्होंने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया होगा। इन सभी को ऑनलाइन पार्टिसिपेट सर्टिफिकेट दिया जाएगा।

चयन की यह रहेगी प्रक्रिया
परीक्षा दो चरणों में आयोजित की जाएगी। पहला चरण: संबद्ध स्कूल सीबीएसई वेबसाइट पर उपलब्ध सीबीएसई रीडिंग चैलेंज यानी www.cbse.nic.in पर राउंड वन / सीबीएसई रीडिंग चैलेंज के पहले चरण के लिंक के माध्यम से अपने छात्रों (कक्षा 8वीं, 9वीं और 10वीं) को 22 जनवरी तक पंजीकृत कर सकता है। इस चरण के लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top