आप यहाँ है :

अविस्मरणीय क्षणों की सौगात दे गया कजरी महोत्सव

मुंबई। रविवार को जाते जाते कजरी महोत्सव ने कई अविस्मरणीय क्षणों की सौगात दी, जो मुंबईकरों के मानस पर अमिट छाप छोड़ गए।बनारसी लाल गमछा कांधे पर डाले महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की महोत्सव में एक घण्टे से अधिक समय की मौजूदगी, पहलवान नरसिंह यादव को रियो भेजने के लिए प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखनेवाले मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का कजरी महोत्सव में गदा देकर नरसिंह के भाई विनोद यादव द्वारा सम्मान, सावन के झूले पर बैठकर मुख्यमंत्री ने कजरी का लुत्फ़ उठाया और बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के उद्देश्य से दो महिला पत्रकारों का मुख्यमंत्री के हाथों स्त्री शक्ति सम्मान का वितरण आदि बातों ने कजरी के सांस्कृतिक महत्व के साथ सामाजिक जिम्मेदारी के निर्वहन का सन्देश भी दिया।

प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी की “बेटी बचाओ -बेटी पढ़ाओ” मुहीम को बल देने के लिए 15 चुनिंदा महिलाओं को स्त्री शक्ति सम्मान से नवांज कर अभियान ने इस दिशा में सार्थक पहल की।भोजपुरी के गायकद्वय मधु पांडेय व सुरेश शुक्ल ने मराठी में गीत प्रस्तुत कर सन्देश दिया कि अपनी कर्मभूमि को नमन करने का इससे बेहतर कोई और तरीका नहीं हो सकता,जहाँ गायक इंद्रजीत यादव ने बेटी और दहेज पर एक मार्मिक गीत सुनाकर लोगों की आँख नम कर दी।ऐसे अनगिन क्षणों की कभी ना भूलनेवाली यादों की थाती दे गया कजरी महोत्सव।साथ ही उत्तरभारतियों की जन्मभूमि की लोकसंस्कृति का जतन करनेवाले अमरजीत मिश्र ने अभियान द्वारा महोत्सव में आये लोगों से एकत्रित धनराशि का दो सामान्य उत्तरभारतीय महिलाओं के हाथों जलयुक्त शिवार के लिए मुख्यमंत्री को पच्चीस हजार रूपये का चेक देकर अपनी कर्मभूमि के प्रति भी अपनी प्रतिबद्धता जताई और यह भी शुभ संकेत मिला कि एक गैर सरकारी संस्था अभियान एक पखवाड़े से अधिक तक शहर के विभिन्न जगहों पर स्थानीय आयोजकों के सहभाग से लोकसंस्कारों का महाकुम्भ आयोजित करता है और उसमें महिलाएं और तरुण पीढ़ी बढ़चढ़ कर हिस्सा लेती हैं।

यही कारण था कि कल जब कांदिवली पूर्व के लोखंडवाला स्थित डॉ आंबेडकर मैदान के अंदर बाहर कजरी प्रेमियों की भारी भीड़ जुटी तो लगा कि देश के अतिव्यस्त शहर में अभियान जैसी एक संस्था ने लोक संस्कृति से प्रेम करनेवाली नवयुवकों की एक पूरी पीढ़ी तैयार कर ली है।कजरी महोत्सव के संयोजक और अभियान के संस्थापक अमरजीत मिश्र के चेहरे पर सफलता की स्पष्ट झलक दिखाई पड़ रही थी।

महिलाओं और पुरुषों से ठसाठस भरे मैदान और बाहर की चौड़ी सड़क पर बड़ी संख्या में जुटे उत्तरभारतीय समाज के लोगों से जब मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि मेरी पत्नी अमृता ने एक दिन मुझसे गा कर कहा कि ” पिया,मेहँदी लिया दा, मोतीझील से, जायके साईकिल से ना।” तो उनकी यह मांग सुनकर मैं डर गया, थोड़ी ही देर में मुझे पता चल गया कि वो तो अभी अमरजीत मिश्र के कजरी महोत्सव से लौटी है।मुख्यमंत्री की बात पर सदन ठहाकों से गूंज उठा। देवेंद्र फडणवीस ने वरिष्ठ पत्रकार मृणालिनी नानिवडेकर और युवा पत्रकार रेखा रावत खान को स्त्री शक्ति सम्मान प्रदान किया। सारगर्भित भाषण में मुख्यमंत्री ने उपस्थित जनसमुदाय का मन जीत लिया।

उन्होंने कजरी को स्त्री शक्ति सम्मान और बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ मुहीम से जोड़ने के लिए अभियान संस्था की प्रशंसा करते हुए कहा कि शिक्षा सबसे बड़ी ताकत भी है और दौलत भी।इसलिए बच्चों को ऊँची से ऊँची शिक्षा देनी चाहिये।

unnamed (1)

पिछले 16 दिनों से चल रहे इस कजरी महोत्सव में जब आयोजको ने उन्हें बनारस का गमछा दिया तो मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस बनारस ने देश को प्रधानमन्त्री दिया हो, उस बनारस का हमें जो कुछ भी मिले , वह सब हमारे लिए सम्मान के योग्य है। उन्होंने मुम्बई के उत्तरभारतीयों में इसी तरह कजरी की गंगा को बहाते रहने का अभियान से आग्रह करते हुए आश्वासन दिया कि हर वर्ष किसी एक कार्यक्रम में वे जरूर आएंगे।मुम्बई बीजेपी के अध्यक्ष विधायक आशीष शेलार ने 20 जगहों पर कजरी महोत्सव का आयोजन करनेवाले अभियान के संस्थापक अमरजीत मिश्र का मुख्यमंत्री के हाथों अभिनन्दन करवाया।

अभियान के संस्थापक अमरजीत मिश्र ने कजरी महोत्सव की सफलता और बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ मुहीम को मिले समर्थन पर ख़ुशी जताई।लोकगीतों की तासीर पर श्री मिश्र ने कहा कि नन्हें बच्चे के लिए माँ द्वारा गाया गया उसका अपना लोकगीत ही उसको संतुष्ट करता है | गरीब – निर्धन माँ अपनी वाणी से अपने बच्चे की क्षुधा शांत कर देती है | प्यार की थपकी और माँ की लोरी से ही बच्चे का पेट भर जाता है | उन्होंने मुख्यमंत्री के कजरी प्रेम की भी प्रशंसा की। आयोजक कांदिवली के विधायक अतुल भातखलकर ने अतिथियों का स्वागत किया और कजरी महोत्सव के संयोजन में सहयोग करनेवाले भाजपा नेता सुधीर शिंदे ने आभार माना।

मिर्जापुर से आई कजरी गायिका मधु पांडेय ने गाया कि हमय सावन में झूलनी गढाय द पिया,जिया भरमाय द पिया ना | उन्होंने सावनी रंग की कई कजरी सुनाई | स्व. चंद्रशेखर मिश्र की लोकप्रिय भोजपुरी कृति ‘द्रौपदी’ के कई मार्मिक छंदों को गाकर लोकगायक सुरेश शुक्ला ने महफ़िल लूट ली | आखों को नम कर देनेवाला और मन को भिगो देनेवाला कृष्ण-द्रौपदी का संवाद लोगों के मन को छू गया |बारिश से लोगों को भीगने से बचाने के लिए आयोजक अतुल भातखलकर ने पूरे मैदान को तालपत्री से छवा दिया था। भोजपुरी फिल्मों की अभिनेत्री सीमा सिंह और कॉमेडी सर्कस के सुनील सावरा ने भी समारोह में अपनी उपस्थिति से लोगों का मनोरंजन किया।

इस अवसर पर विधायक मनीषा चौधरी,विधायक प्रवीण दरेकर,नगरसेविका सुनीता यादव, नगरसेवक विनोद शेलार सहित कई प्रमुख लोग अतिथि के तौर पर समारोह में उपस्थित थे ।अभियान की स्मर्णिका लोक चेतना का विमोचन मुख्यमंत्री श्री फडणवीस के हांथों हुआ। विधायक आशीष शेलार का स्वागत जिलाध्यक्ष श्रीकांत पांडेय ने किया।

कैप्शन

कजरी महोत्सव में आनेवाली उत्तरभारतीय महिलाओं – पुरुषों ने महाराष्ट्र के जलयुक्त शिविर के लिए एक एक रूपये की सहायता राशि सामाजिक संस्था अभियान के पास जमा की थी, इस तरह जुटे पच्चीस हजार रूपये की धनराशि दो सामान्य उत्तरभारतीय महिलाओं ने मुख्यमंत्री के सुपुर्द की। कांदिवली के लोखंडवाला में हुए समारोह में मुख्यमंत्री के साथ में मुम्बई बीजेपी के अध्यक्ष आशीष शेलार, मुम्बई बीजेपी के महामंत्री व अभियान के संस्थापक अमरजीत मिश्र व महाराष्ट्र बीजेपी के महामंत्री विधायक अतुल भातखलकर, विधायक मनीषा चौधरी।

नवभारत टाईम्स की पत्रकार रेखा रावत खान को मिला स्त्री शक्ति सम्मान

Print Friendly, PDF & Email


सम्बंधित लेख
 

ईमेल सबस्क्रिप्शन

PHOTOS

VIDEOS

Back to Top