Wednesday, April 24, 2024
spot_img
Homeजियो तो ऐसे जियोअफसरों ने नही प्रभु ने सुनी अदने कर्मचारी की फरियाद

अफसरों ने नही प्रभु ने सुनी अदने कर्मचारी की फरियाद

बिलासपुर : केन्द्र सरकार के मंत्री अपने विभाग के छोटे से छोटे कर्मचारियों की भी बात सुनते है, इसका उदाहरण केन्द्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने दिया है। जिस कर्मचारी ने सुरेश प्रभु को अपनी समस्या से अवगत कराया था, वह रेलवे विभाग का अदना सा कर्मचारी है। वैसे इस कर्मचारी की हिम्मत की भी दाद देना होगी, जिसने सीधे-सीधे रेल मंत्री को ईमेल भेजकर समस्या से अवगत कराया।

इसलिये भेजा मेल….

यह मामला सहायक लोको पायलट अवधेश कुमार से जुड़ा हुआ है। दरअसल उनके जैसे कर्मचारी एयर टाइड केबिन में ड्यूटी देने से काफी परेशानी का सामना कर रहे है। जिस तरह के केबिन में ड्यूटी लगती है वहां गर्मी हो या ठंड इतनी गर्मी लगती है कि पूछो ही मत। इसके बाद आखिरकार कर्मचारी ने अपने वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत जरूर कराया, लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हुई तो अतंतः उन्होंने सुरेश प्रभु को ही ईमेल करने की हिम्मत जुटा ली।

उन्होंने यह कहा था कि हम जिस केबिन में ड्यूटी करते है, वह ऐसा लगता है जैसे आदमी को किसी गर्म ड्रम में डाल दिया हो, क्योंकि इंजन की गर्मी इतनी तेज होती है कि ठंड में भी पसीने छूटने लगते है। बताया गया है कि सुरेश प्रभु ने अपने विभाग के कर्मचारी की बात को गंभीरता से लिया तथा रेलवे मंत्रालय के अधिकारियों को जवाब देने के निर्देश दिये। इसके बाद मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बकायदा कर्मचारी को जवाब देते हुये बताया कि केबिनों के लिये एसी का अलाटमेंट कर दिया गया है और जल्द ही केबिनों में एसी लगा दिये जायेंगे। रेल मंत्री द्वारा कर्मचारी की सुनवाई करने के बाद कर्मचारी खुश है।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार