आप यहाँ है :

जब पिता ने बेटी को सैल्यूट किया

रविवार शाम को तेलंगाना राष्ट्र समिति( टीआरएस) की तरफ से जनसभा हुई। इस रैली में लाखों लोगों के आने की उम्मीद थी, लिहाजा पुलिस व्यवस्था चाक-चौबंद कर दी गई थी। इस दौरान जब एक पिता-पुत्री का आमना-सामना हुआ, तो उन्हें जानने वाले सभी लोग हंसने लगे। दरअसल, बेटी को देखते ही पिता ने सेल्यूट मारा।

‘प्रगति निवेदन सभा’ नामक इस रैली में मुख्‍यमंत्री के चंद्रशेखर राव जनता के सामने अपनी सरकार का रिपोर्ट कार्ड पेश किया। तभी वहां वर्दी में तैनात डीसीपी पिता उमा महेश्वर शर्मा ने जब आईपीएस बेटी सिंधु शर्मा को सैल्यूट मारा, तो लोग मुस्कुरा उठे। खुद पिता के चेहरे पर भी गर्व से भरी हुई मुस्कुराहट दिख रही थी।

हैदराबाद में राशाकोंडा कमिश्नरी के मलकानगिरी के डीसीपी उमा मेहश्वर शर्मा अगले साल रिटायर होने वाले हैं। सब इंस्पेक्टर के पद से नौकरी शुरू करने वाले शर्मा 30 वर्षों के बाद डीसीपी के पद पर पहुंचे हैं। वहीं, उनकी बेटी सिंधू शर्मा तेलंगाना के जगतियाल जिला में एसपी हैं। उनका आईपीएस में चयन 2014 बैच में हुआ था।

रविवार को तेलंगाना राष्ट्रीय समिति की जनसभा में पिता-पुत्री का आमना-सामना हुआ, तो पिता ने बेटी सिंधू को सैल्यूट किया। दरअसल, वहां महिलाओं की सुरक्षा की जिम्मेदारी सिंधु शर्मा को दी गई थी। इस दौरान उमा महेश्वर शर्मा ने कहा कि हम दोनों ड्यूटी करते समय पहली बार आमने-सामने आए हैं। उन्होंने गर्व से कहा कि सिंधु मेरी वरिष्ठ अधिकारी हैं। मैं जब उन्हें देखता हूं, तो उन्हें सैल्यूट करता हूं।

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top