ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

कोटा के जेके लोन अस्पताल में स्थापित होगी 4-डी सोनोग्राफी मशीन

कोटा। राज्य सरकार ने जेके लोन अस्पताल में संभाग के जिलों एवं मध्य प्रदेश तक से आने वाले शिशुओं की बेहतर इलाज सुविधा एवं जन्मजात बिमारियों का पता लगाने के लिए 65 लाख रूपये की लागत से 4-डी सोनोग्राफी मशीन स्थापित करने की स्वीकृति जारी की है। उल्लेखनीय है कि विगत दिनों इस अस्पताल में कुछ शिशुओं के मरने की घटनाओं को देखते हुए सेवाओँ को प्रभावी बनाने के लिए निर्णय लिया गया। साथ ही डॉ. अशोक मूंदड़ा को नया अधीक्षक नियुक्त किया गया है।

जिला कलेक्टर उज्ज्वल राठौड़ ने बताया कि मुख्यमंत्री बजट घोषणाओं की अनुपालना में मेडिकल कॉलेज से संबंधित अस्पतालों में 4-डी सोनोग्राफी मशीन स्थापित करने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने बताया कि इसे शीघ्र स्थापित किया जायेगा जिससे बेहतर इलाज की सुविधा मिल सकेगी।

प्राचार्य मेडिकल कॉलेज डॉ. विजय सरदाना ने बताया कि 4-डी सोनोग्राफी मशीन की आवश्यकता लम्बे समय से महसूस की जा रही थी इससे गृभस्थ शिशु में विभिन्न जन्मजात बिमारियों का पता लगाया जा सकेगा तथा बेहतर इलाज की सुविधा मिल सकेगी। इससे पूरे संभाग, समीप के जिलों व मध्य प्रदेश से आने वाली प्रसूताओं एवं नवजात शिशुओं की जांच में मदद मिलेगी।

अस्पताल में बेहतर व्यवस्थाएं व समन्वय बनाने की कवायद के लिए राज्य सरकार के निर्देश पर कोटा आये उदयपुर आरएनटी के प्रिंसिपल व वरिष्ठ शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ.लाखन पोसवाल ने बताया कि अस्पताल में यूनिट-ए के नीचे खाली जगह पर 30 बेड का नया अतिरिक्त एनआईसीयू बनाया जाएगा। यहां बच्चों के उपचार की पूरी सुविधा रहेगी। वार्ड में सेन्ट्रल ऑक्सीजन लाइन डाली जाएगी। प्रत्येक बेड पर वेन्टिलेटर की सुविधा मिलेगी। संक्शन मशीन रहेगी, मॉनिटर रहेंगे,बिजली की पूरी व्यवस्था की जाएगी। वार्ड व्यवस्थाओं से पूरी तरह से सुसज्जित रहेगा।

विगत दिनों जेके लोन अस्पातल में नवजात शिशुओं के मौत के मामलों को गम्भीरता से लेते हुए राज्य सरकार ने डॉ. एससी दुलारा को अधीक्षक पद से तुरन्त प्रभाव से हटाकर उनके स्थान पर फोरेंसिक मेडिसिन विभागाध्यक्ष डॉ. अशोक मंूदडा को जेके लोन अस्पताल का नया अधीक्षक नियुक्त किया गया है।

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top