Friday, April 19, 2024
spot_img
Homeखबरेंकट्टरता सिखाने के इल्‍जाम में फ्रांस सरकार ने 20 मस्जिदों पर लगवाया...

कट्टरता सिखाने के इल्‍जाम में फ्रांस सरकार ने 20 मस्जिदों पर लगवाया ताला

तस्‍लीमा नसरीन ने पूछा- बाकी देश कब करेंगे ऐसा?

फ्रांस सरकार ने दिसंबर से अब तक 20 मस्जिदों और प्रार्थना हॉल को बंद कर दिया गया है। अधिकारियों को कहना है कि यहां लोगों को इस्लाम से जुड़े कट्टर विचार सिखाए जा रहे थे। इन मस्जिदों के बंद होने की जानकारी फ्रांस के ग्रहमंत्री बर्नार्ड कैजेउन्वे ने दी। ग्रहमंत्री बर्नार्ड ने ट्वीट के जरिए कहा, ” दिसंबर 2015 से कट्टरता के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के तहत 20 मस्जिदों को बंद कराया जा चुका है।”
फ्रांस के इस फैसले पर भारत में रह रही बांग्लादेश की लेखिका तस्लीमा नसरीन ने पूछा है कि बाकि देश ऐसा फैसला कब लेने वाले हैं। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, “फ्रांस में कट्टरता सिखाने के आरोप में 20 मस्जिदों पर ताला लग चुका है। बाकि मुस्लिम देशों का क्या? क्या उन्हें ऐसा कदम नहीं उठाना चाहिए?”

इससे पहले सोमवार को ग्रहमंत्री बर्नार्ड ने बताया था, “फ्रांस में मस्जिदों और प्रेयर हॉल्स में नफरत फैलाने वालों के लिए इस देश में कोई स्थान नहीं है। इसलिए हमने कुछ महीने पहले यह फैसला किया कि आपात स्थिति के जरिए मस्जिदों को बंद कर दें। अब तक 20 मस्जिदें बंद की जा चुकी है और कुछ दूसरी मस्जिदों पर भी यह कार्रवाई की जाएगी। France 24 न्यूज चैनल के मुताबिक फ्रांस में स्थित 2500 मस्जिद और प्रार्थना हॉल्स में से करीब 120 मस्जिद फ्रांस के अधिकारियों के शक के घेरे में थीं। इनमें धार्मिक विचारों के प्रचार के नाम पर चरमपंथ की शिक्षा दी जाने के आरोप हैं।

फ्राँस सरकार के इस कदम की प्रशंसा करने पर बांगालादेशी लेखिका तस्लीमा नसरीन के ट्वीट पर कई लोगों ने समर्थन किया है।

taslima nasreen @taslimanasreen
France closed 20 mosques considered to be preaching radical Islam.What about other Muslim countries?Shouldn’t they shut down some mosques?

BNS Tyagi @BNSTyagi
@taslimanasreen @AdhamyaBharath Islam is not a religion. It is a group with sole aim 2 destroy other. It has its by laws called Quran.

Janardhan_Sparsha @Sparshajana
@taslimanasreen : France leaders work for People.. Other countries leaders work for Votes.. Simple but Truth..

रतन सिंह @singhratan656
@taslimanasreen बाबरी ढाँचे को हटाना भारत मे गुनाह बन गया,कामकाजी मस्जिद हटाई तो कितने बम धमाके और दंगे होंगे खुदा भी नही बता पाऐंगे

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार