आप यहाँ है :

सफल जीवन से अधिक सार्थक जीवन को महत्व देते थे डॉ राजकुमार जी – श्री सुरेश सोनी

भोपाल। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक एवं मध्य भारत प्रांत के प्रचारक प्रमुख डॉक्टर राजकुमार जैन को एक श्रद्धांजलि कार्यक्रम में भावभीनी श्रद्धांजलि देते हुए वक्ताओं ने कहा कि उन्होंने जीवन की सार्थकता को महत्व देते हुए परमार्थी जीवन व्यतीत किया । प्रचारक के रूप में वे आदर्श थे, विनम्रता की पराकाष्ठा तथा हमेशा कार्यकर्ता के पीछे खड़े रहकर उसे सफल बनाना यह उनके जीवन का विशेष गुण था।

आभासी माध्यम से आयोजित श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य श्री सुरेश जी सोनी ने कहा के की डॉ राजकुमार जी सदैव आनंद में रहकर कार्यकर्ता को प्रेरणा देने का धर्म निभाते रहे। बड़ी आयु में भी बाल हृदय स्वभाव के साथ वह कठिन परिस्थितियों में भी सहज रहते थे। उन्होंने हमेशा सफल जीवन से अधिक सार्थक जीवन को महत्व दिया।

मध्य क्षेत्र के क्षेत्र प्रचारक श्री दीपक विस्पुते ने अपनी संवेदनाएं व्यक्त करते हुए कहां की वरिष्ठ होते हुए भी राजकुमार जी का जीवन विनम्रता की पराकाष्ठा था। एक प्रचारक के रूप में वह हम सबके लिए आदर्श हैं , मातृवत् भाव से कार्यकर्ताओं की चिंता, छोटी छोटी बातें सिखाना और कभी भी नकारात्मकता का प्रभाव नहीं होने देना यह उनके जीवन के बड़े गुण थे।

श्रद्धांजलि सभा को विद्या भारती के श्री निरंजन शर्मा ,भाजपा के प्रांत संगठन मंत्री सुहास भगत, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्र प्रचारक प्रमुख श्री शिवराम जी, प्रांत कार्यवाह यशवंत इंदापुर कर , विभाग प्रचारक श्री सुरेंद्र सिंह तथा श्रवण जी ने भी संबोधित किया। संचालन श्री चाणक्य बक्शी ने किया। श्रद्धांजलि सभा में डॉ राजकुमार जी के साथ ही, प्रचारक स्व सुखराम जी सहित कोरोना काल में दिवंगत कार्यकर्ताओं, उनके परिजनों सहित समस्त समाज जनों के प्रति शोक संवेदनाएं व्यक्त की गई।

आभासी पद्धति से आयोजित श्रद्धांजलि सभा में मध्य भारत प्रांत के प्रमुख कार्यकर्ताओं सहित देश के कुछ वरिष्ठ प्रचारक बंधुओं ने अपनी शोक संवेदना व्यक्त की।

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top