Tuesday, June 18, 2024
spot_img
Homeप्रेस विज्ञप्ति'डाकघर निर्यात केंद्र' से घर बैठे उद्यमियों को विदेशों हेतु पार्सल बुकिंग...

‘डाकघर निर्यात केंद्र’ से घर बैठे उद्यमियों को विदेशों हेतु पार्सल बुकिंग व कस्टम क्लियरेंस की मिलेगी सुविधा

वाराणसी।

बदलते परिवेश में डाक विभाग नवीनतम टेक्नोलॉजी अपनाते हुए नित नवाचार कर रहा है। ई-कॉमर्स के चलन से पार्सल व्यवसाय में तेजी से वृद्धि हो रही है। देश ही नहीं विदेशों में भी खूब पार्सल भेजे जा रहे हैं।

इसी क्रम में वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने विशेश्वरगंज स्थित वाराणसी प्रधान डाकघर में ‘डाकघर निर्यात केंद्र’ का शुभारम्भ किया। अब यहाँ से विभिन्न उद्यमी विदेशों में पार्सल भेज सकेंगे और घर बैठे कस्टम क्लियरेंस की सुविधा उपलब्ध होगी। पहले ही दिन वाराणसी के डाकघर निर्यात केंद्र से कुवैत, आयरलैंड और न्यूजीलैंड देशों के लिए बुकिंग की गई।

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि शीघ्र ही वाराणसी परिक्षेत्र के जौनपुर प्रधान डाकघर, बलिया प्रधान डाकघर, भदोही मुख्य डाकघर एवं पंडित दीन दयाल उपाध्याय उपडाकघर में भी उद्यमियों की सुविधा के लिए डाकघर निर्यात केंद्र की स्थापना की जाएगी।

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि विदेश भेजने हेतु पार्सल बुक करवाने के लिए अब ग्राहकों को डाकघर आने की जरूरत नहीं है, घर बैठे ही पोर्टल के माध्यम से अपना पार्सल बुक कर सकेंगे। इसके लिए डाक विभाग द्वारा देश भर के जिला मुख्यालय के प्रधान/मुख्य डाकघरों में डाकघर निर्यात केंद्र खोले जा रहे हैं।

इस सेवा का लाभ लेने के लिए उद्यमियों को भारतीय डाक विभाग के पोर्टल www.indiapost.gov.in पर या सीधे https://dnk.cept.gov.in/customers.web/ लिंक पर जाकर रजिस्ट्रेशन करना होगा। रजिस्ट्रेशन करने हेतु उद्यमियों को निर्यातक होने का प्रमाण पत्र भी देना होगा। श्री यादव ने कहा कि ओडीओपी और जीआई उत्पादों की मांग भी विदेशों में दिनों-ब-दिन बढ़ रही हैं, ऐसे में डाकघर निर्यात केंद्र के माध्यम से इन्हें विदेशों से आसानी से भेजा जा सकेगा। इस अवसर पर प्रथम ग्राहक के रूप में यासिन खान ने पार्सल बुक कराया, जिन्हें पोस्टमास्टर जनरल ने प्रतीकात्मक रूप से रसीद सौंपकर शुभारंभ की घोषणा की।

गौरतलब है कि विदेशों में माल भेजने और विदेशों से माल मंगवाने पर दिल्ली तथा मुंबई में कस्टम विभाग द्वारा जाँच होती है। कई बार इसमें 15 दिन से 1 महीने का समय भी लग जाता है। पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि डाकघर निर्यात केंद्र में बुक किये गए पार्सलों के कस्टम क्लीयरेंस के लिए विशेष प्रावधान किये गए हैं। अब ग्राहकों को डाकघर आने की जरुरत नहीं पड़ेगी बल्कि कस्टम विभाग को क्लीयरेंस से संबंधित जिस भी आवश्यक दस्तावेज की जरुरत होगी उसका नोटिफिकेशन ग्राहकों के पास मोबाईल और पोर्टल पर आ जाएगा। तदनुसार ग्राहक घर बैठे ही पोर्टल पर अपने अकाउंट में लॉग इन करके आवश्यक दस्तावेज भेजकर तत्काल कस्टम क्लीयरेंस करवा सकेंगे।

वाराणसी पूर्वी मंडल के प्रवर डाक अधीक्षक श्री राजन ने बताया कि डाकघर निर्यात केंद्र के लिए डाककर्मियों को विशेष प्रशिक्षण दिया गया है, जो ग्राहकों को डाक विभाग के पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन से लेकर बुकिंग तक में मदद करेंगे, ताकि ग्राहकों को किसी भी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पड़े।

इस अवसर पर प्रवर डाक अधीक्षक राजन, सीनियर पोस्टमास्टर संकठा प्रसाद राय, सहायक अधीक्षक सुरेन्द्र चौधरी, दिलीप सिंह यादव, आइपीपीबी मैनेजर सुबलेश सिंह, डाक निरीक्षक श्रीकांत पाल, दिलीप पांडेय, साधना मिश्रा, श्रीप्रकाश गुप्ता, दीपमणि, मनीष मिश्रा सहित तमाम अधिकारी, कर्मचारी और उद्यमी उपस्थित रहे।

(ब्रजेश शर्मा)

सहायक निदेशक

कार्यालय – पोस्टमास्टर जनरल

वाराणसी परिक्षेत्र, वाराणसी -221002

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार