Sunday, May 26, 2024
spot_img
Homeमीडिया की दुनिया सेकैसे हैं अमरीकी शिक्षा संस्थान

कैसे हैं अमरीकी शिक्षा संस्थान

अमेरिका में विभिन्न प्रकार के उच्च शिक्षा संस्थान हैं जो प्रत्येक शैक्षिक और कॅरियर लक्ष्य को पूरा करते हैं।

अमेरिकी उच्च शिक्षा की मजबूती के एक कारणों में वहां मौजूद विभिन्न तरह के विश्वविद्यालय और कॉलेज हैं। यहां सरकारी और निजी संस्थान, कुछ बहुत बड़े तो कुछ बहुत छोटे, धर्मनिरपेक्ष और धार्मिक रूप से संबद्घ संस्थान हैं। उनके स्थानों में भी बहुत भिन्नता है- कुछ संस्थान शहरी इलाकों में हैं, तो कुछ अर्द्धशहरी क्षेत्रों या ग्रामीण इलाकों में स्थित हैं।

अमेरिकी शिक्षा विभाग के अनुसार, देश में उच्च शिक्षा की डिग्री देने वाले संस्थानों की संख्या 3,931 है। सरकारी संस्थानों में सबसे ज्यादा छात्रों का पंजीकरण होता है क्योंकि वे निजी संस्थानों के मुकाबले ज्यादा बड़े होते हैं। निजी संस्थानों को सरकार से तो फंड नहीं मिलता लेकिन उन्हें दान, चंदा और शिक्षण शुल्क से पैसा मिल जाता है। करीब तीन चौथाई निजी संस्थान नॉन-प्रॉफिट हैं।

अधिकतर कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में चार साल का अंडरग्रेजुएट डिग्री प्रोग्राम होता है। विश्वविद्यलयों में ग्रेजुएट और पीएच.डी. पाठ्यक्रम भी होते हैं। कम्युनिटी कॉलेजों में दो साल के पाठ्यक्रम होते हैं, जो सैद्धांतिक कम और कॅरियर की तरफ ज्यादा उन्मुख होते हैं।

सरकारी विश्वविद्यालयों को वे राज्य प्रबंधित करते और फंड देते हैं, जहां वे स्थित होते हैं। अमेरिका के सभी 50 राज्यों में कम से कम एक सरकारी विश्वविद्यालय है। अक्सर ऐसे विश्वविद्यालय, राज्य में वृहद विश्वविद्यालय तंत्र का हिस्सा होते हैं। उदाहरण के लिए न्यू यॉर्क स्टेट यूनिवर्सिटी तंत्र में 64 विभिन्न सरकारी संस्थान शामिल हैं, जिनमें शीर्ष रिसर्च यूनिवर्सिटी से लेकर तकनीकी संस्थान और कम्युनिटी कॉलेज तक शामिल हैं। अमेरिका के अधिकतर बड़े विश्वविद्यालय सरकारी हैं। सबसे बड़ी टेक्सस ए एंड एम यूनिवर्सिटी में 2020 के अंत से सालाना 70,000 से ज्यादा विद्यार्थियों का पंजीकरण हो रहा है। वे राज्य जहां ये विश्वविद्यालय स्थित है, वहां के विद्यार्थियों को अमेरिका के दूसरे राज्यों और विदेशी विद्यार्थियों के मुकाबले शिक्षण शुल्क के रूप में कम पैसे देने होते हैं।

यूनिवर्सिटी ऑफ़ कैलिफोर्निया, लॉस एंजिलीस एक पब्लिक रिसर्च यूनिवर्सिटी है, जहां पर 31600 अंडरग्रेजुएट और 14300 ग्रेजुएट और प्रोफेशनल विद्यार्थियों को डिग्री और डॉक्टरल प्रोग्राम उपलब्‍ध कराए जाते हैं।

निजी विश्वविद्यालय, आमतौर पर सरकारी विश्वविद्यालयों से छोटे होते हैं, अक्सर वहां कक्षाएं छोटी होती हैं और वे ज्यादा खर्चीले होते हैं। इस श्रेणी में कुछ जानेमाने अमेरिकी विश्वविद्यालयों की फेहरिस्त में हॉर्वर्ड, येल और प्रिंस्टन जैसे विश्वविद्यलय शामिल हैं। डोनेशन और शिक्षण शुल्क के अलावा, इन संस्थानों को चंदे की रकम भी मिलती है- जिसके सावधानी से निवेश से हर साल उस पर अच्छा-खासा ब्याज भी विश्वविद्यालयों को मिलता है।

चित्र न्यू जर्सी स्थित प्रिंस्टन यूनिवर्सिटी एक प्राइवेट रिसर्च यूनिवर्सिटी है। यहां के सेंट्रल कैंपस में 200 भवनों के तहत 95 लाख वर्गफुट जगह है। (फोटोग्राफः प्रिंस्टन यूनिवर्सिटी, ऑफिस ऑफ़ कम्युनिकेशंस )

साभार- https://spanmag.com/hi से

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार