Saturday, May 25, 2024
spot_img
Homeपत्रिकाकला-संस्कृतिनाथद्वारा साहित्य मंडल का दो दिवसीय साहित्यिक एवं सांस्कृतिक समारोह 6 एवं...

नाथद्वारा साहित्य मंडल का दो दिवसीय साहित्यिक एवं सांस्कृतिक समारोह 6 एवं 7 जनवरी को

कोटा/ हिंदी पुरोधा – राष्ट्रभाषा सेनानी साहित्यवाचपति भगवतीप्रसाद देवपुरा की दशम पुण्यतिथि पर आगामी 6 एवं 7 जनवरी 24 को दो दिवसीय साहित्यिक एवं सांस्कृतिक समारोह का आयोजन साहित्य मंडल नाथद्वारा द्वारा मंडल के प्रेक्षागृह में किया जाएगा। साहित्य मंडल के प्रद्युम्न देवपुरा ने बताया कि समारोह में 9 राज्यों के 60 हिंदी और संस्कृति प्रेमियों, साहित्यकारों, बाल साहित्यकारों, संपादकों को विशिष्ठ उपाधि अलंकरणों से सम्मान से सम्मानित किया जाएगा। समारोह में बाहर से आने वालों के लिए आवास और भोजन की व्यवस्थाएं सुनिश्चित की गई है।

साहित्य मंडल के प्रधानमंत्री श्यामप्रकाश देवपुरा ने बताया कि समारोह में राजस्थान सहित सिक्किम, उड़ीसा, हरियाणा, उत्तरप्रदेश, पंजाब, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और दिल्ली राज्यों के संस्था समिति द्वारा चयनित साहित्यकारों को सम्मानित करने का निर्णय लिया गया है। समारोह में सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के साथ 6 जनवरी को राष्ट्रभाषा हिंदी एवं संस्कृति प्रेमियों, संपादकों, पत्रकारों और विशिष्ट साहित्यकारों को विभिन्न सत्रों में सम्मानित किया जाएगा। उन्होंने बताया की समारोह के दूसरे दिन 7 जनवरी को बालकों के चहुंमुखी विकास के लिए विकासोन्मुख पत्र, कहानी और कविता वाचन के साथ-साथ बाल साहित्यकारों का सम्मान किया जायेगा। समारोह में डॉ. कृष्णा कुमारी की पुस्तक ” हरित पगडंडी पर” तथा डॉ.प्रभात कुमार सिंघल की संस्कृति पर आधारित पुस्तक ” अलबेले उत्सव और मेले” सहित तीन और पुस्तकों का विमोचन भी होगा। अखिल भारतीय कवि सम्मेलन और काल – कलवित एवं वर्तमान में प्रकाशित बाल पत्रिकाओं की प्रदर्शनी का आयोजन भी किया जाएगा।

ये होंगे सम्मानित:
शताब्दी सम्मान : नाथूलाल देवपुरा एवं श्रीमती भंवरी देवी चापलोट दोनों नाथद्वारा।
बृज कांत साहित्य सम्मान : शहजाद अली किशनगढ़। श्री ताराचंद्र भंडारी स्मृति ‘ साहित्य भूषण सम्मान : डॉ.प्रभात कुमार सिंघल कोटा।
श्री ललितशंकर दीक्षित स्मृति सम्मान : डॉ.अनिल गहलोत मथुरा और राजेंद्र मोहन शर्मा उदयपुर। श्री रविन्द्र गुर्जर ( अप्पू)स्मृति सम्मान : संपादक शिरोमणि डॉ.प्रदीप त्रिपाठी गंगटोक, शिक्षा मनीषी.उपमा शर्मा गंगटोक । श्रीमती गीता देवी काबरा स्मृति बालश्री सम्मान : सुश्री राजपुरोहित एवं अधिश्री सिंह फालना, प्राची मटोलिया वनस्थली । श्रीमती शिव चंद ओझा स्मृति सम्मान : प्रमोद शर्मा जयपुर। श्रीमती केशर देवी जानी स्मृति सम्मान : प्रमिला शर्मा उड़ीसा। श्रीमती शशि कला मेहता स्मृति सम्मान : विष्णु कुमार कुमावत। साहित्य कुसुमाकर सम्मान : प्रो.( मेजर ) बुद्ध देव आर्य भिवाड़ी, डॉ.वीना उदय कानपुर एवम् बनवारी लाल परिका, फतेहनगर ।

साहित्य सुधाकर अलंकरण : विजय जोशी और डॉ. कृष्णा कुमारी कोटा एवं संगीता सक्सेना जयपुर। साहित्य सौरभ सम्मान : डॉ.वैदेही गौतम कोटा, जगतनारायण भारद्वाज, भिवानी, विनोद कुमार जालंधर, श्याम गुप्ता, जोधपुर, भगवानलाल बंशीवाल, बागोल एवं डॉ.भगवती लाल सुखवाल उदयपुर। काव्य कलाधर सम्मान : डॉ.कविंद्र नारायण श्रीवास्तव वाराणसी, रघुनंदन हटीला ‘ रघु ‘ कोटा एवम् डॉ. डॉ.राजमती पोखरना सुराना भीलवाड़ा। काव्य कौस्तुभ सम्मान : तृप्ति मिश्रा महू एवम् अभिलाषा पारीख जयपुर। काव्य कुसुम सम्मान : विनय बंसल आगरा, डांगी गणेश राय मावली, रितेंद्र अग्रवाल जयपुर। संपादक श्री सम्मान : श्याम प्रसाद जैन सूरत, संजय कुमार शर्मा अजमेर और भगवान प्रसाद उपाध्याय प्रयागराज।

बाल साहित्य सम्मान :
श्रीमती गीता देवी काबरा स्मृति सम्मान : विकास दवे भोपाल, कुशलेंद्र श्रीवास्तव गदरवाड़ा, माधव शर्मा कोटा,एवम् जगदीश चंद्र शर्मा गिलूनड। श्याम सुंदर बागला स्मृति सम्मान : डॉ.राजेश चक्र मुरादाबाद । श्रीमती कमला पुरोहित स्मृति सम्मान : डॉ.शील कौशिक सिरसा। श्री वैभव कालरा स्मृति सम्मान : प्रभा पारीख भरुंच, डॉ.प्रदीप कुमार शर्मा रायपुर एवम् डॉ.शशि शुक्ल कानपुर।

बाल साहित्य भूषण सम्मान :
राजस्थान से ओम प्रकाश तंवर चुरू, दिनेश विजयवर्गीय बूंदी, योगिराज ‘ योगी कोटा,
डॉ.सतीश कुमार किशनगढ़, सुशीला शर्मा जयपुर, शशि सक्सेना जयपुर, डॉ. आशा पांडेय ओझा उदयपुर और त्रिलोकसिंह ठकुरेला आबूरोड। उत्तरप्रदेश से प्रेमसिंह राजावत आगरा, पावन कुमार सिंह सुल्तानपुर, नीलम राकेश लखनऊ,श्याम कृष्ण सक्सेना लखनऊ, डॉ.जयप्रकाश प्रजापति कानपुर, डॉ.रमेश आनंद आगरा एवं डॉ.कौशल पांडेय कानपुर । डॉ.शिव मोहन यादव दिल्ली, सुश्री प्रिया देवगन छतीसगढ़ एवम् डॉ. मेजर शक्तिराज सिरसा को सम्मानित किया जाएगा।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार