ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

पेन किलर दवाएँ जान की दुश्मन हो सकती है

आज की बिजी लाइफ स्टाइल में सिर दर्द, पीठ दर्द या बदन दर्द होना आम है। ऐसे में तुरंत राहत के लिए लोग पेन किलर यानी दर्द निवारक दवाएं खा लेते हैं। लेकिन ये दर्द निवारक दवाएं शरीर के लिए घातक हो सकती हैं। दरअसल, पेन किलर्स पर हुए ताजा शोध में पता चला है कि इन दवाओं के दूरगामी परिणाम सेहत के लिए हानिकारक साबित होते हैं। पेन किलर्स से टाइप 2 डाईबिटीज होने का खतरा रहता है।

डेली मेल की खबर के मुताबिक दर्द निवारक दवाएं या एंटीबायोटिक्स बैक्टीरिया को मारने का काम तो करती हैं, लेकिन इनसे संक्रमण भी होता है। ये दवाएं नुकसान पहुंचाने वाले बैक्टीरिया को मारती हैं, लेकिन इन दवाओं के सेवन से पाचनतंत्र को सही रखने वाले कुछ अच्छे बैक्टीरिया भी मारे जाते हैं। पाचनतंत्र प्रभावित होने पर डायबिटीज का खतरा पनपता है।4 लाख लोगों पर हुए शोध में पाया गया है कि 15 वर्षों के दौरान 4 बार एंटीबॉयोटिक्स का सहारा लेने पर 53 फीसदी लोगों में डायबिटीज का खतरा देखा गया।

टाइप 2 डायबिटीज के ज्यादातर मामले इंग्लैंड में देखे जाते हैं। माना जाता है कि इंग्लैंड में तकरीबन 30 लाख लोग टाइप 2 डायबिटीज के साथ रहते हैं। अगर इस बीमारी पर रोक नहीं लगाई गई तो एक अनुमान के मुताबिक साल 2025 तक इंग्लैंड में इस बीमारी के 50 लाख मरीज हो जाएंगे।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top