Monday, July 22, 2024
spot_img
Homeप्रेस विज्ञप्ति‘साहित्य आज तक’ का आयोजन 24 से 26 नवंबर तक दिल्ली...

‘साहित्य आज तक’ का आयोजन 24 से 26 नवंबर तक दिल्ली में

नई दिल्ली। आज तक ने भारतीय भाषा और साहित्य को बढ़ावा देने के लिए 8 श्रेणियों में सम्मान देने की घोषणा की है। ये सम्मान इस वर्ष साहित्य आज तक के दौरान दिए जाएंगे। नई दिल्ली स्थित नेशनल स्टेडियम में 24 से 26 नवंबर के बीच साहित्य के महाकुंभ ‘साहित्य आज तक’ के दौरान इस वर्ष के विजेताओं को सम्मानपूर्वक ये पुरस्कार दिए जाएंगे।

आज तक साहित्य जागृति सम्मान लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड होगा। इसकी सम्मान राशि 11 लाख रुपए होगी।

आज तक साहित्य जागृति सम्मान भारतीय भाषा के किसी भी सम्मानित लेखक/लेखिका को उनकी जीवनभर की साहित्य साधना और साहित्य सेवा के लिए दिया जाएगा।

इसके अलावा, आज तक साहित्य जागृति सर्वश्रेष्ठ रचना सम्मान भी 4 श्रेणियों में दिए जाएंगे। इस कैटेगरी की सम्मान राशि 1-1 लाख रुपए होगी।

आज तक साहित्य जागृति सर्वश्रेष्ठ रचना सम्मान पिछले तीन साल के भीतर प्रकाशित किसी पुस्तक पर दिया जाएगा। इनकी कैटेगरी होगी:

आज तक साहित्य जागृति सर्वश्रेष्ठ रचना सम्मान (लेखक), सम्मान राशि 1 लाख रुपए

आज तक साहित्य जागृति सर्वश्रेष्ठ रचना सम्मान (लेखिका), सम्मान राशि 1 लाख रुपए

आज तक साहित्य जागृति भारतीय भाषा सम्मान, सम्मान राशि 1 लाख रुपए

इनके साथ ही लोकप्रिय कैटेगरी में आज तक साहित्य जागृति लोकप्रिय लेखक सम्मान दिया जाएगा। इसकी राशि भी 1 लाख रुपए होगी।

यह सम्मान भारतीय भाषा की पिछले तीन साल के भीतर प्रकाशित किसी भी श्रेष्ठ कृति पर दिया जाएगा।

इंडिया टुडे ग्रुप इस कैटेगरी में सम्मान देने वाला देश का पहला समूह है।

आज तक साहित्य जागृति सम्मान के तहत युवा प्रतिभाओं को बढ़ावा देने के लिए भी तीन सम्मानों की भी घोषणा हुई है। इन कैटेगरी में आज तक साहित्य जागृति उभरती प्रतिभा सम्मान के नाम से सम्मान दिए जाएंगे:

आज तक साहित्य जागृति युवा लेखक सम्मान, सम्मान राशि 50 हजार रुपए
आज तक साहित्य जागृति युवा लेखिका सम्मान, सम्मान राशि 50 हजार रुपए
आज तक साहित्य जागृति भाषाई प्रतिभा सम्मान, सम्मान राशि 50 हजार रुपए

आज तक साहित्य जागृति सम्मान के विजेताओं के चयन के लिए आज तक के न्यूज़ डाइरेक्टर सुप्रिय प्रसाद की अध्यक्षता में 6 सदस्यीय जूरी गठित हुई है।

इंडिया टुडे ग्रुप की वाइस चेयरपर्सन कली पुरी का कहना है,, “साहित्य के महामेले ‘साहित्य आज तक’ के सफल आयोजनों के बाद इंडिया टुडे समूह की यह एक और पहल भारतीय भाषाओं को बढ़ावा देने की हमारी प्रतिबद्धता को उजागर करती है। ‘आज तक साहित्य जागृति सम्मान’ के माध्यम से हमारा लक्ष्य है स्थापित साहित्यकारों को सम्मानित करना तथा उभरते हुए साहित्यकारों को प्रोत्साहित करना ताकि भारतीय साहित्य सदैव बुलंदियों की राह में अग्रसित रहे।“

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार