Saturday, July 20, 2024
spot_img
Homeअध्यात्म गंगागायत्री मंत्र सबसे शक्तिशाली स्तोत्र क्यों है..?

गायत्री मंत्र सबसे शक्तिशाली स्तोत्र क्यों है..?

विश्व के सबसे प्राचीन धार्मिक ग्रंथ ऋग्वेद के 10 मंडलों, 1028 शुक्तों, 10580 मंत्रों में से गायत्री मंत्र को सबसे पवित्र और शक्तिशाली माना जाता है। इसे इसका जाप करने वाले लोगों के दिमाग को खोलने वाला प्रमुख मंत्र माना जाता है। महर्षि विश्वामित्र द्वारा निर्मित, न केवल अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक अमेरिकी वैज्ञानिक हॉवर्ड स्टीगेरिल द्वारा प्रमाणित, जिन्होंने मंत्रों को एकत्र किया और अपनी प्रयोगशाला में उन पर शोध किया, बल्कि एक अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) द्वारा भी प्रमाणित किया गया, जिन्होंने 1998 में अपना शोध पूरा किया।

अपने निष्कर्ष में वैज्ञानिकों ने बताया कि दिन के एक निश्चित समय पर नियमित रूप से गायत्री मंत्र का जाप करने से शरीर में कई हार्मोनल परिवर्तन होते हैं, जिससे उचित नींद, आराम और खुशी के हार्मोन उत्पन्न होते हैं, जो शरीर को बेहतर तरीके से काम करने में मदद करते हैं।

शोध में पता चला कि मंत्र में 24 शब्दांश हैं जो शरीर के 24 विभिन्न वर्गों को संबोधित करते हैं। ध्वनि तरंगों की व्यवस्था शरीर को ध्वनि चिकित्सा प्रदान करती है जो स्वयं कई रोगों का इलाज है, इसीलिए हम कहते हैं, “सर्व रोग निवारिणी गायत्री”। गायत्री मंत्र के महत्व से अवगत होकर ही प्राचीन काल में इसे हमारे महान गुरुकुलों के विद्यार्थियों के लिए अनिवार्य कर दिया गया था। यही कारण था कि भारत ने आर्यभट्ट, धन्वंतरि, पन्नी और कई अन्य विद्वानों को जन्म दिया जिनकी कभी न खत्म होने वाली सूची है।

ऋग्वेद में वर्णित गायत्री मंत्र का अर्थ उच्चतम प्रकार के भगवान पर ध्यान केंद्रित करना है जो हमारे मन को (भू लोक) पृथ्वी से (भुरवा) पवित्र स्थान की ओर मोड़ सकता है। गायत्री मंत्र का धारक ऋग्वेद स्वयं असंख्य मंत्रों का खजाना है। प्राचीन भारत के महान ऋषियों को इसके महत्व के बारे में अच्छी तरह से पता होगा, इसीलिए उन्होंने प्राचीन भारत की महान विरासत को संरक्षित करने का भरसक प्रयास किया है।

दुर्भाग्य से हम आधुनिक भारत के लोग अपनी महान विरासत के रत्नों को नजरअंदाज कर आंख मूंदकर पश्चिम की ओर बढ़ रहे हैं। पश्चिम की ओर जाना बुरा नहीं है लेकिन अपनी संस्कृति को भूलना अच्छा नहीं है…

साभार Vatsala Singh (@_vatsalasingh) के ट्वीटर हैंडल से

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार