आप यहाँ है :

15 साल में विश्वस्तरीय रेलवे बनेगी भारतीय रेल: श्री प्रभु

रेल मंत्री सुरेश प्रभु का कहना है कि भारतीय रेल को 15 साल में विश्व स्तरीय रेलवे बनाया जा सकता है और इसके लिये उन्होंने एक खाका तैयार किया है। प्रभु ने पत्रकारों से से एक साक्षात्कार में कहा कि रेलवे में जो सुधार आरंभ हुए है, उसके तहत पाँच साल में उसकी क्षमता बढ़ाने पर ध्यान केन्द्रित किया गया है। इसमें करीब साढ़े आठ लाख करोड़ की लागत आएगी।

दोहरीकरण, तिहरीकरण चौथी लाइन, विद्युतीकरण तथा नये लोको कारखानों से इस क्षमता को बढ़ाया जाना है। उन्होंने बताया कि 2019 तक भारत विश्वस्तरीय रेल इंजनों का निर्माण करने लगेगा जो निर्यात भी किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि भारतीय रेलवे में 2019 से 2024 के बीच इस पाँच वर्ष की तुलना में दोगुना निवेश होगा जिससे रेलवे में असली फर्क दिखाई देने लगेगा।

उन्होंने कहा कि अगर उन्हें 2024 से 2029 का समय भी मिले या उनकी योजना पर अमल हो तो भारतीय रेलवे की तस्वीर पूरी तरह से बदल जाएगी और विश्वस्तर पर श्रेष्ठतम रेलवे बन जाएगी।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top