आप यहाँ है :

 

  • दादा गुरुदेव के स्वर्गारोहण महोत्सव पर गूँज उठे भक्ति गीतों के स्वर

    दादा गुरुदेव के स्वर्गारोहण महोत्सव पर गूँज उठे भक्ति गीतों के स्वर

    राजनांदगाँव। दादा गुरुदेव श्री जिनदत्त सूरि जी महाराज साहब का 863 वां स्वर्गारोहण महोत्सव संस्कारधानी में उत्साह पूर्वक, भाव-भक्ति से साथ मनाया गया। कैवल्यधाम तीर्थ प्रेरिका, परम पूज्य निपुणा श्री जी म. सा. की सुशिष्या प.पू. स्नेहयशा श्री जी म.सा., प.पू. यशोनिधि श्री जी म.सा. आदि साध्वियों का पावन सानिध्य प्राप्त हुआ ।

  • इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र में ‘मन की बात रेडियो पर सामाजिक क्रांति’ पर परिचर्चा

    इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र में ‘मन की बात रेडियो पर सामाजिक क्रांति’ पर परिचर्चा

    नई दिल्ली। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र में रविवार 9 जुलाई को ‘मन की बात रेडियो पर सामाजिक क्रांति’ के नाम से एक परिचर्चा का आयोजन किया गया है। रेडियो पर प्रसारित होने वाले सबसे लोकप्रिय कार्यक्रम ‘मन की बात’ पर एक पुस्तक बाजार में आई है ‘मन की बात रेडियो पर सामाजिक क्रांति’ । परिचर्चा इसी पुस्तक पर है।

  • बुनियादी सुविधाओं का अभाव झेलती भारतीय रेल

    बुनियादी सुविधाओं का अभाव झेलती भारतीय रेल

    भारतवासियों को सुनहरे सपने दिखाने में पूरी महारत रखने वाली भारतीय जनता पार्टी की केंद्र सरकार आए दिन कोई न कोई लोकलुभावनी बातें करती दिखाई देती है। सरकार के रेल मंत्रालय की ओर से भी विभिन्न प्रकार की ऐसी घोषणाएं की जाती हैं जो सुनने में देश के लोगों के कानों को तो ज़रूर अच्छी लगती हैं परंतु वास्तव में ज़मीनी हकीकत से उनका कोई लेना-देना नहीं होता।

  • देश में हिंदी संस्कृत और स्थानीय भाषा में शिक्षा देना जरुरीः जी माीधवन नायर

    देश में हिंदी संस्कृत और स्थानीय भाषा में शिक्षा देना जरुरीः जी माीधवन नायर

    भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन :इसरो: के पूर्व अध्यक्ष जी माधवन नायर ने कहा है कि शिक्षा को लेकर सभी राज्यों में तीन भाषाओं की नीति अपनाई जानी चाहिए और छात्रों को सर्वाधिक वैग्यानिक भाषाओं में से एक संस्कृत पढ़ने का भी विकल्प दिया जाना चाहिए।

  • कैसे बना इजराईल, रोचक और प्रेरक इतिहास

    कैसे बना इजराईल, रोचक और प्रेरक इतिहास

    यहूदियों के घरों में "गेस्टापो" के जवान घुस जाते और कहते, "बाहर निकलकर क़तार में खड़े हो जाओ!" सड़क पर चलती बसों को रोक दिया जाता और कहा जाता कि "यहूदी मुसाफ़िर बाहर निकलकर क़तार में खड़े हो जाएं!

  • इजराइल में मैने क्या देखा, काश हमारी सरकारें इससे कुछ सीख सकें

    इजराइल में मैने क्या देखा, काश हमारी सरकारें इससे कुछ सीख सकें

    मैं तीन बार इजराइल गया हूँ. तीनों बार अलग अलग रास्तों से. पहली बार लंदन से गया था. दूसरी बार पेरिस से. लेकिन तीसरी बार मुझे जाने का अवसर मिला, पडौसी राष्ट्र जॉर्डन से. राजधानी अम्मान से, रॉयल जॉर्डन एयरलाइन्स के छोटेसे एयरक्राफ्ट से तेल अवीव की दूरी मात्र चालीस मिनट की हैं.

  • ॐ   और स्वस्तिक के अद्भुत रहस्य में लिपटी है भोपाल की बसाहट

    ॐ और स्वस्तिक के अद्भुत रहस्य में लिपटी है भोपाल की बसाहट

    भोपाल। मध्य प्रदेश के ऐतिहासिक भोजपुर मंदिर के बारे में तो आपने सुना ही होगा, लेकिन अब ये मंदिर वैज्ञानिक महत्व के लिए भी जाना जाएगा। जी हां, भोजपुर और मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के छिपे हुए प्राचीन रहस्य अब सामने आ रहे हैं।

  • मैं गरीब हूं, इबारत गरीबी का मजाक है

    मैं गरीब हूं, इबारत गरीबी का मजाक है

    राजस्थान में गरीबों का मखौल उड़ाने का एक गंभीर मामला सामने आया है, जो हमारी राजनीति के साथ-साथ प्रशासनिक मूल्यहीनता एवं दिशाहीनता का परिचायक है। राजनीतिक लाभ लेने के लिये किस तरह सरकार के द्वारा जनयोजनाआंें को भुनाने के प्रयत्न होते हैं, उसका राजस्थान एक घिनौना एवं अमानवीय उदाहरण बनकर प्रस्तुत हुआ है।

  • यह वृक्ष ही बचाएंगे हमें

    यह वृक्ष ही बचाएंगे हमें

    प्रकृति के बिना मनुष्य के जीवन की कल्पना संभव नहीं है। जल-जंगल के बिना जन का जीवन संभव है क्या? साधारण बुद्धि का व्यक्ति भी इस प्रश्न का उत्तर जानता है। लेकिन, लालच से वशीभूत आदमी प्रकृति का संवर्द्धन करने की जगह निरंतर उसका शोषण कर रहा है।

  • मोदीः जनविश्वास पर खरा उतरने की चुनौती

    मोदीः जनविश्वास पर खरा उतरने की चुनौती

    जिस दौर में राजनीति और राजनेताओं के प्रति अनास्था अपने चरम पर हो, उसमें नरेंद्र मोदी का उदय हमें आश्वस्त करता है। नोटबंदी, कैसलेश जैसी तमाम नादानियों के बाद भी नरेंद्र मोदी लोगों के दुलारे बने हुए हैं, तो यह मामला गंभीर हो जाता है।

Get in Touch

Back to Top