आप यहाँ है :

केरल के चर्च का आरोप, लव जिहाद में फँसाई जा रहीहै इसाई लड़कियाँ

कोच्चि। केरल के प्रभावशाली कैथोलिक चर्च ने आरोप लगाया है कि राज्य में ईसाई समुदाय की लड़कियों को लव जिहाद का शिकार बनाया जा रहा है और उनको इस्लामिक स्टेट के जाल में फंसाया जा रहा है साथ ही उनका इस्तेमाल आतंकी गतिविधियों में भी किया जा रहा है। कैथोलिक सायरो-मालाबार चर्च के पादरियों की शीर्ष संस्था,और इसके प्रमुख कार्डिनल जॉर्ज एलनचेर्री हैं। उन्होंने केरल पुलिस पर लव जिहाद के मामलों की अनदेखी करने का आरोप लगाया है। सायरो-मालाबार ने मीडिया कमीशन के जरिए जारी किए गए बयान में चर्च ने कहा है कि केरल में लव जिहाद के नाम पर ईसाई लड़कियों का कत्ल किया जा रहा है।अपने बयान में उन्होंने दुनिया भर में ईसाइयों के खिलाफ हो रहे हमलों का जिक्र किया है। पादरियों की इस प्रमुख संस्था ने कहा है कि केरल में बहुत ही सुनियोजित तरीके से लव जिहाद को अंजाम दिया जा रहा है। राज्य में लव जिहाद तेजी से अपनी जड़ें जमाता जा रहा है, जो समाज में शांति और सांप्रदायिक सौहार्द के लिए काफी गंभीर खतरा है।

ईसाइयों का धर्म परिवर्तन कराने का लगाया आरोप

चर्च ने इस मामले में पुलिस के रिकॉर्ड का हवाला देते हुए कहा है कि राज्य में इस्लामिक स्टेट में 21 लोगों को भर्ती किया गया है। इसमें से आधे ईसाई धर्म छोड़कर इस्लाम को स्वीकार करने वाले लोग हैं। समुदाय के लिए ये घटनाएं आंखें खोलने वाली और चौकाने वाली है। ईसाई समुदाय की लड़कियों को लव जिहाद के चक्कर में फंसाकर आतंकी गतिविधियों में उनका इस्तेमाल किया जा रहा है। इससे साफ है कि लव जिहाद कोरी कल्पना की बात नहीं, बल्कि हकीकत है। चर्च ने लव जिहाद के मामलों में सख्त और त्वरित कार्रवाई किए जाने की मांग की है।

कैथोलिक चर्च के इस बेहद गंभीर आरोप पर अभी तक न तो पुलिस की तरफ से और न ही राज्य सरकार की तरफ से किसी तरह की कोई प्रतिक्रिया आई है। जबकि, केरल राज्य महिला आयोग की एक पदाधिकारी ने इस मामले पर कोई टिप्पणी करने से साफ इन्कार कर दिया है।

इस्लामिक संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) ने आरोपों को गलत करार देते हुए चर्च के बयान के समय पर भी सवाल उठाया है। इस्लामिक संगठन पीएफआई ने चर्च से तुरंत इस बयान को वापस लेने का अनुरोध किया है। पीएफआई ने कहा है कि चर्च के इस बयान से हिंदुत्व फासीवाद के खिलाफ बनी एकता में टूट पड़ेगी। गौरतलब है पीएफआई पर लव जिहाद के मामलों में अहम भूमिका निभाने के आरोप लगते रहे हैं।

विहिप ने किया बयान का स्वागत

विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने लव जिहाद मामले में चर्च के इस बयान का स्वागत किया है। साथ ही केरल में लव जिहाद के खिलाफ संगठित लड़ाई लड़ने का आह्वान किया है। विहिप के पूर्व प्रांत अध्यक्ष एसजेआर कुमार ने कहा है कि आपराधिक पृष्ठभूमि वाले मुस्लिम लड़के हिंदू और ईसाई लड़कियों को पहले प्यार के जाल में फंसाते हैं और उसके बाद राज्य में जगह-जगह बने केंद्रों पर इन लड़कियों का धर्मपरिवर्तन कराया जाता है। धर्मातरण के बाद इन लड़कियों का ड्रग तस्करी और आतंकी घटनाओं में इस्तेमाल किया जाता है। उन्होंने कहा कि विहिप ने बहुत पहले ही यह मसला उठाया था, लेकिन उस समय किसी ने ध्यान नहीं दिया।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top