ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

छात्रा की हत्या से दुःखी बिरजू महाराज ने मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिखा

नोएडा: दिल्ली के मयूर विहार स्थित एलकॉन पब्लिक स्कूल की छात्रा इकिशा की खुदकुशी मामले में प्रसिद्ध कथक नर्तक बिरजू महाराज ने सीबीआई जांच की मांग की है. बिरजू महाराज ने चीफ जस्टिस (CJI) दीपक मिश्रा को चिट्ठी लिखकर इकिशा की खुदकुशी मामले की जांच की मांग की है. साथ उन्होंने आरोप लगाया है कि इस मामले में नोएडा पुलिस उचित कार्रवाई नहीं कर रही है. इस मामले में परिजनों का आरोप है कि स्कूल के शिक्षकों ने उसे प्रताड़ित किया था, जिससे परेशान होकर उसने जान दे दी. छात्रा के पिता भी कथक टीचर हैं और वे बिरजू महाराज के शिष्य हैं. पत्र में बिरजू महाराज ने लिखा है कि छात्रा का परिवार और वे मूलरूप से कथक कलाकार हैं, उनका किसी वकील से कोई परिचय नहीं है. छात्रा को न्याय मिले और दोषी को सजा मिले. बिरजू महाराज ने पत्र के जरिए चीफ जस्टिस से आग्रह किया है कि वे सीबीआई जांच कराएं या अपने नेतृत्व में एसआईटी का गठन करें.

इससे पहले 24 मार्च को बिरजू महाराज ने प्रेस कांफ्रेंस बुलाकर कहा था, ‘दुख इस बात का है, जो सारी दुनिया को झुमा देने में काबिल थी, वो खुद फंदे पर झूल गई.’ पंडित बिरजू महाराज पुलिस द्वारा अब तक की गई कार्रवाई से भी वो संतुष्ट नहीं है. उन्होंने मामले की हकीकत तक पहुंचने के लिए स्कूल प्रशासन से जांच में सहयोग करने की अपील की है.

नोएडा सुसाइड मामले में बिरजू महाराज ने प्रेस कॉन्प्रेस कर कहा, ‘मुझे दुख है कि नृत्यकला में बेहद अच्छी समझ रखने वाली नृत्यांगना को हमने खो दिया है. मुझे ये भी एहसास है कि अगर बच्ची ने खुदकुशी जैसा कदम उठाया है, तो वो कितनी ज्यादा परेशानी में होगी. वो भविष्य में एक बेहतरीन डांसर बनकर उभरने वाली थी.’

बिरजू महाराज ने कहा कि जिन अध्यापकों पर सवाल उठे हैं, वो बेकसूर हैं, तो वो घटना के इतने दिन बीत जाने के बाद भी छात्रा के परिजनों से मिलने क्यों नहीं आए. उन्होंने मामले की सीबीआई जांच की मांग की साथ ही कहा कि इकिशा को न्याय दिलवाने के लिए वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मिलेंगे.

छात्रा के पिता बिरजू महाराज के शिष्य रह चुके हैं, जो वर्तमान एक बेहतर गुरु हैं. बिरजू महाराज ने कहा, बिटिया के जाने का दर्द कैसे बयां करूं. मेरे परिवार की सदस्य, प्रतिभाशाली शिष्या और नटखट चिड़िया को हमने खो दिया है.

सेक्टर 52 में आत्महत्या करने वाली 9वीं की छात्रा कथक में होनहार थी. वो चार साल की उम्र से कथक सीख रही थी. परिवार के पास उसके करीब एक हजार से ज्यादा वीडियो हैं. जो सिर्फ अब इकिशा की यादें मात्र हैं.



Leave a Reply
 

Your email address will not be published. Required fields are marked (*)

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

सम्बंधित लेख
 

Back to Top